रक्षाबंधन पर इस शहर में पतंगों से अटेगा आसमां

करौली. करौली जिला मुख्यालय पर रियासतकाल से ही रक्षाबंधन और श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर पतंगबाजी की परम्परा रही है।

By: Dinesh sharma

Published: 02 Aug 2020, 10:44 PM IST

करौली. करौली जिला मुख्यालय पर रियासतकाल से ही रक्षाबंधन और श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर पतंगबाजी की परम्परा रही है। सोमवार को रक्षाबंधन पर आसमान में पतंगें झूमेंगी। इसके लिए रविवार को ही पतंगों के शौकीनों ने पतंग-डोर और मांजे की खरीदारी कर ली। विशेष रूप से बच्चों और युवाओं की सुबह से दोपहर तक पतंगों की दुकानों पर खूब भीड़ रही। हिण्डौन गेट , चौधरी पाड़ा, बड़ा बाजार आदि स्थानापें पर पतंग की दुकानों पर तो स्थिति यह रही कि बाजार बंद होने के निर्धारित 2 बजे के समय बाद तक पतंग के लिए ग्राहक खड़े नजर आए।

कोरोना का नहीं असर
करौली में पतंगबाजी पर कोरोना का कोई खास असर नहीं आया, बल्कि बच्चों-युवाओं ने पतंगबाजी को और परवान चढ़ाया। असल में इन दिनों में स्कूल-कॉलेज बंद हैं और शहर से बाहर दूसरे शहरों में रहने वाले अनेक युवक भी पिछले दिनों में अपने घर आ गए। ऐसे में इस बार शहर में खूब पतंग उड़ी हैं। पतंग विक्रेताओं का कहना है कि इस बार पतंगों-डोर और मांजे की खूब बिक्री हुई है।

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned