सावधान ! चम्बल में बढऩे वाला है पानी, किनारे के गांव-ढाणियों में है खतरे की संभावना

कोटा बैराज के गेट खोलकर की जा रही पानी की निकासी
जिला प्रशासन ने जारी की एडवायजरी

By: Dinesh sharma

Published: 23 Aug 2020, 03:13 PM IST

करौली. कोटा बैराज के गेट खोलकर पानी छोड़े जाने के बाद करणपुर-मण्डरायल कस्बे के समीप से बह रही क्षेत्र की चम्बल नदी के उफान पर आने की संभावना के मद्देनजर जिला प्रशासन की ओर से एडवायजरी जारी की गई है।

जिला प्रशासन ने चम्बल नदी मे पानी की आवक बढऩे से चम्बल नदी के किनारे बसे गांव, ढाणी आदि को खतरे की संभावना जताई गई है। अतिरिक्त जिला कलक्टर सुदर्शन सिंह तोमर इस संबंध में आमजन से अपील की है कि चंबल नदी किनारे या संबंधित जल भराव क्षेत्र में बसे गांव, बस्ती के सभी मछुआरे सहित अन्य लोग अपने पशुओं सहित अन्य सुरक्षित उंचे स्थानों पर शिफ्ट हो जाएं, ताकि किसी भी प्रकार की कोई हानि नहीं हो। उन्होंने बताया कि वर्तमान में चंबल नदी का जल स्तर 150.240 है और वार्निंग लेवल 167 है। कोटा बैराज के गेट खोलने के कारण शाम 5 बजे तक चंबल में पानी की आवक बढऩा शुरू हो जाएगा। ऐसे में चम्बल नदी के आस पास बसे सभी लोग अपने बच्चों, किसी अन्य परिजन को चंबल नदी के निकट या भराव वाले क्षेत्र में नहीं जाने दें।

उन्होंने उपखंड क्षेत्र मंडरायल सहित अन्य चम्बल नदी संबंधित उपखण्डों के अधिकारियो को अपने क्षेत्र में विशेष निगरानी व सतर्कता बनाए रखने, मुख्यालय पर रहकर समुचित व्यवस्था करने, चम्बल किनारे बसे गांव व ढाणियों के लोगो एवं पशुओं को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने के लिए दिशा-निर्देश जारी कर शीघ्र तैयारियां करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि आवश्यक तैयारियों के संबंध में किसी भी प्रकार की कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned