राजस्थान के इस जिला मुख्यालय पर सड़कों पर मोटरसाइकिलों का जमावड़ा बनता है राह में बाधा

करौली. जिला मुख्यालय के विभिन्न बाजारों में मोटरसाइकिलों का जमावड़ा भी राह में बाधा बना हुआ है।

By: Dinesh sharma

Published: 21 Oct 2020, 07:02 PM IST

करौली. जिला मुख्यालय के विभिन्न बाजारों में मोटरसाइकिलों का जमावड़ा भी राह में बाधा बना हुआ है। शहर के एक नहीं कई बाजारों में सड़क के बीच मोटरसाइकिलों ने राहगीरों की राह में मुश्किल खड़ी कर रखी है। लम्बे समय से चली आ रही इस परेशानी के समाधान के प्रति जिम्मेदारों का ध्यान ही नहीं है। ऐसे में शहर की यातायात व्यवस्था बदहाल है।

शहर के विभिन्न मुख्य मार्गों में खड़ी रहने वाली मोटरसाइकिलें लोगों को विशेष रूप से परेशान किए हुए हैं। विशेष रूप से यहां सर्राफा बाजार, चौधरी पाड़ा,कपड़ा बाजार, सदर बाजार, अनाज मण्डी आदि में तो समस्या विकट हो गई है। सर्राफा मार्केट से अटे कपड़ा बाजार में बीच तिराहा मोटरसाइकिल पार्किंग स्थल बन गया है। छोटे से रास्ते में दर्जनों मोटरसाइकिलें आड़ी-तिरछी खड़ी रहती हैं। लोग सड़क पर मोटरसाइकिलों को खड़ा करके इधर-उधर खरीदारी के लिए चले जाते हैं। पीछे से लोग परेशान होते रहते हैं। कोई दूसरी मोटरसाइकिल निकलना तो दूर राहगीर ही मुश्किल से गुजर पाते हैं।

कमोबेश यही स्थिति महज पांच-सात फीट के सर्राफा बाजार की है, जहां दर्जनों मोटरसाइकिलें सुबह से शाम तक बेतरतीब खड़ी रहती हैं। ऐसे में कई बार जमा की नौबत आती है। लम्बे समय से चल रही इस अव्यवस्था को दुरुस्त करने के प्रति यातायात पुलिस कोई ध्यान नहीं दे रही।

हॉस्पीटल के आगे भी जमावड़ा
ऐसा नहीं है कि मोटरसाइकिलों के रास्ते में जमावड़े की समस्या केवल व्यस्ततम बाजारों में ही है, बल्कि सामान्य चिकित्सालय के सामने सड़क पर भी बड़ी संख्या में बाइक खड़ी रहती हैं, जिससे मुख्य रास्ता होने से आवागमन बाधित होता है।

ढिलाई से फेल हो गई पार्किंग व्यवस्था
शहर में मोटरसाइकिल-आटों के बढ़ते दबाव के मद्देनजर नगरपरिषद ने पूर्व में यहां बड़ा बाजार में राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय के पीछे पार्किंग व्यवस्था शुरू की थी, लेकिन यह व्यवस्था भी फेल हो गई। सूत्र बताते हैं कि शुरूआत में कुछेक दिन तक यातायात पुलिस की सख्ती से मोटरसाइकिल चालकों को पाबंद कर गाडिय़ों को पार्किंग स्थल तक पहुंचाया, लेकिन धीरे-धीरे ढिलाई हुई तो व्यवस्था भी ढीली हो गई। स्थिति यह हुई कि दिनभर में दो-चार मोटरसाइकिल ही पार्किंग तक पहुंचने लगी, जबकि सैंकड़ों मोटरसाइकिलें बाजार में खड़ी रहने लगी। इस स्थिति के चलते ठेकेदार का भी मोहभंग हो गया। अन्तत: पार्किंग व्यवस्था ठप हो गई।


यह बोले दुकानदार............
लोग सड़क पर मोटरसाइकिल खड़ी कर जाते हैं। इससे आवागमन बाधित होता है। जब मना करते हैं तो विवाद की नौबत आ जाती है। इससे परेशानी झेलनी पड़ रही है।
नाजिम, दुकानदार बड़ा बाजार

रोज सुबह से शाम तक मोटरसाइकिल खड़ी रहती हैं। सर्राफा बाजार में पहले ही संकरा रास्ता है उस पर मोटरसाइकिलों के खड़ा होने से परेशानी और बढ़ जाती है। पहले पार्किंग शुरू हुई तो कुछ राहत मिली थी।
संतोष जडिय़ा, सर्राफा बाजार

अस्पताल के सामने सड़क पर बाइक आड़ी-तिरछी खड़ी होती है। इससे परेशानी होती है। कई बार जाम की नौबत आ जाती है। रोगियों को भी अस्पताल आने-जाने में परेशानी हो जाती है।
दीनदयाल गुप्ता, दुकानदार, अस्पताल मार्ग

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned