करौली के इस इलाके के आबादी क्षेत्र में फिर आया जरख, लोगों की उड़ी नींद

करौली. जिला मुख्यालय के आबादी वाले क्षेत्र में बीते कुछ दिनों से जरख के लगातार मुमवेंट ने लोगों की नींद उड़ा दी है।

By: Dinesh sharma

Published: 24 Jan 2021, 08:17 PM IST

करौली. जिला मुख्यालय के आबादी वाले क्षेत्र में बीते कुछ दिनों से जरख के लगातार मुमवेंट ने लोगों की नींद उड़ा दी है। जरख के लगातार आने से लोग भयभीत हैं। पिछले दिनों तक जरख देर शाम या रात्रि में ही नजर आ रहा था, लेकिन रविवार को सायनात खिड़किया बाहर वीर हनुमान मंदिर-आत्मा दास की बगीची के समीप दिन में ही जरख के नजर आने से लोगों में हड़कंप मच गया। लोगों ने इस बारे में प्रशासन, वन विभाग एवं पुलिस को सूचना भी दी।

शाम करीब 4.30 बजे और इसके बाद शाम करीब 6 बजे के आसपास लोगों को जरख नजर आया। क्षेत्र के बाशिंदे अख्तर, जिलानी, रफीक,शाकिर हाजी, कालिया महेन्द्र आदि ने बताया कि रविवार को तो दो जरख नजर आए। एक छोटा था और एक बड़ा था। सूचना पर समाजसेवी बबलू शुक्ला भी मौके पर पहुंचे। बबलू शुक्ला ने बताया कि उन्होंने प्रशासनिक अधिकारी सहित वन विभाग व पुलिस को सूचना दी, लेकिन शाम तक कोई नहीं पहुंचा। गौरतलब है कि पिछले कई दिनों से सामान्य चिकित्सालय के पीछे की मधुवन विहार कॉलोनी व वीर हनुमान मंदिर क्षेत्र में जरख नजर के आने की लोग शिकायत कर रहे हैं। पिछले दिनों मंगलवार-बुधवार को भी जब जरख इस इलाके में नजर आया तो लोगों की सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और जानवर की निगरानी शुरू की। इसके बाद वन विभाग ने इलाके में जरख के होने की पुष्टि की। साथ ही बताया था कि जरख आगे की ओर बढ़ गया है, लेकिन फिर विभाग ने ध्यान नहीं दिया और जरख इसी इलाके में विचरण कर रहा है।

लोगों में समाया भय
क्षेत्र के लोगों ने बताया कि जरख के लगातार मुमवेंट से भय का माहौल बना हुआ है। बच्चों का बाहर निकलना मुश्किल हो गया। इस इलाके से हाथीघटा, 132 केवी कॉलोनी, कॉलेज आदि का रास्ता सायनात खिड़किया होते हुए शहर में जाता है। इन कॉलोनियों के अनेक लोग सुबह-शाम इसी रास्ते से मदनमोहनजी, बाजार जाते हैं। बच्चे भी स्कूल जाते हैं, लेकिन जरख के भय से मुश्किल हो गई है।

की रोशनी की व्यवस्था
जरख की सूचना पर मौके पर लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई। मुख्य रास्ता होने और क्षेत्र में पोलों पर रोशनी की व्यवस्था नहीं होने के कारण रात्रि में जरख के भय के चलते पोलों पर लाइट भी लगवाई गई हैं। बबलू शुक्ला ने बताया कि अंधेरे में कहीं राहगीर पर जरख हमला नहीं कर दे इस कारण हैलोजन लगवाई गई हैं। वहीं लोग हाथों में डण्डे लेकर चौकसी करते नजर आए।

इनका कहना है....
जरख के आने की सूचना मिली है। गत दिनों मौके पर विभाग की टीम पहुंची थी, तो जरख आगे की ओर बढ़ गया था। आज फिर से जरख का इसी इलाके में मुमवेंट की सूचना मिली है। कल जाल मंगवाकर जरख को पकडऩे की कार्रवाई की जाएगी।
देवेन्द्र सिंह, रेंजर वन विभाग करौली

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned