बजट में करौली को मिले सेटेलाइट अस्पताल की सौगात

शहरवासी लगातार कर रहे मांग
नवीन चिकित्सालय भवन के दूर होने से है सेटेलाइट की जरुरत
जनप्रतिनिधियों की प्रभावी पहल की दरकार

By: Dinesh sharma

Published: 05 Feb 2021, 07:56 PM IST

करौली. जिला मुख्यालय पर सेटेलाइट चिकित्सालय की मांग के इस बार के बजट में पूरी होने की राज्य सरकार से करौलीवासी उम्मीद लगाए बैठे हैं। जिला चिकित्सालय का मण्डरायल मार्ग पर नवीन भवन बनने के बाद से ही शहर में सेटेलाइट चिकित्सालय की मांग जोर पकड़ रही है। सेटेलाइट चिकित्सालय के लिए चिकित्सालय प्रशासन से लेकर जिला प्रशासन की ओर से उच्च स्तर पर तीन बार प्रस्ताव भी भिजवाए जा चुके हैं, लेकिन यह प्रस्ताव अभी फाइलों में ही दबे हैं। ऐसे में सेटेलाइट चिकित्सालय के लिए उच्च स्तर पर प्रभावी राजनीतिक पहल की दरकार है। लोगों का कहना है कि यदि क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि इस मुद्दे को सरकार को समक्ष प्रभावी तरीके से उठाएं तो बजट में उनकी यह मांग पूरी हो सकती है।

नवीन भवन दूर, इसलिए है दरकार
बीते वर्षों में जिला चिकित्सालय के नवीन भवन का मण्डरायल मार्ग पर निर्माण हो गया। तीन-चार वर्ष से नवीन भवन में एमसीएच (मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य संस्थान) का संचालन हो रहा है। वहीं करीब 6 माह पहले सामान्य चिकित्सालय के नवीन भवन में पुराने भवन से कुछ इकाइयों को स्थानान्तरित कर दिया गया, जबकि अन्य इकाइयां अभी पुराने भवन में संचालित है। माना जा रहा है कि आगामी समय में अन्य इकाइयां भी वहां शिफ्ट हो जाएंगी।
समस्या यह है कि नवीन भवन शहर से करीब 8 किलोमीटर दूर है। ऐसे में वहां तक रोगियों को पहुंचने में मुश्किल होती है। विशेष परेशानी आपात स्थिति में होगी, ऐसे में बीते वर्षों से शहरवासी पुराने भवन में सेटेलाइट चिकित्सालय की मांग कर रहे हैं, ताकि आपात स्थिति के दौरान रोगियों को राहत मिल सके।

दो वर्ष में तीन बार भिजवाए प्रस्ताव
लगातार उठ रही मांग को लेकर चिकित्सालय प्रशासन की ओर से करीब दो वर्ष के अंतराल में तीन बार उच्च स्तर पर सेटेलाइट के प्रस्ताव भिजवाए जा चुके हैं। जिला प्रशासन की ओर से भी इस मामले में गंभीरता दर्शाते हुए इन प्रस्तावों को उच्च स्तर पर भिजवाया था। इन प्रस्तावों में शहर के मध्य संचालित वर्तमान सामान्य चिकित्सालय में उपलब्ध विभिन्न चिकित्सकीय संसाधनों की जानकारी के साथ चिकित्सक और नर्सिंग स्टाफ की जानकारी का उल्लेख किया गया। साथ ही बताया गया कि पुराने चिकित्सालय भवन में सेटेलाइट चिकित्सालय की स्वीकृति मिलती है तो यहां पर पहले से ही ब्लड बैंक, ऑक्सीजन लाइन, एक्सरे, सोनोग्राफी सहित विभिन्न अन्य सुविधाएं भी हैं। ऐसे में सेटेलाइट चिकित्सालय खुलने की स्थिति में यहां अधिक संसाधनों की आवश्यकता भी नहीं होगी।

इनका कहना है....
नए भवन में कुछ इकाईयां स्थानान्तरित कर दी गई हैं। हमारी ओर से पुराने भवन में सेटेलाइट चिकित्सालय के लिए पूर्व में प्रस्ताव भिजवाए हुए हैं। अधिकारियों के दिशा-निर्देशानुसार आगे कार्रवाई की जाएगी।
डॉ. दिनेश गुप्ता, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी, सामान्य चिकित्सालय, करौली

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned