करौली के बाजारों में प्रशासन द्वारा की गई इस कार्रवाई से मच गया हड़कंप

करौली. जन अनुशासन पखवाड़े में राज्य सरकार द्वारा घोषित कोरोना गाइड लाइन की पालना की स्थिति का जायजा लेने मंगलवार को बाजार में निकले पुलिस-प्रशासन के दल ने बाजार में सड़क से अस्थाई अतिक्रमणों को हटाने की कार्रवाई से कुछ देर के लिए हड़कम्प मच गया।

By: Dinesh sharma

Published: 20 Apr 2021, 08:26 PM IST

करौली. जन अनुशासन पखवाड़े में राज्य सरकार द्वारा घोषित कोरोना गाइड लाइन की पालना की स्थिति का जायजा लेने मंगलवार को बाजार में निकले पुलिस-प्रशासन के दल ने बाजार में सड़क से अस्थाई अतिक्रमणों को हटाने की कार्रवाई से कुछ देर के लिए हड़कम्प मच गया। बाजार में दुकानें खुलने और भीड़ होने की शिकायत पर उपखण्ड अधिकारी देवेन्द्र सिंह परमार, पुलिस उपाधीक्षक मनराज मीना पुलिस जाप्ता, नगरपरिषद के कार्मिकों के साथ सदर बाजार तथा अनाज मण्डी इलाके में पहुंचे।

पुलिस-प्रशासन की टीम को देख गाइड लाइन के विपरीत खुली दुकानें तो पटाफट बंद हुई जबकि किराना के सामान की दुकानों के आगे सड़क पर सामान, बैंच, तख्ते आदि रखे होने से रास्ता संकरा हो रहा था। इससे आवागमन में दिक्कत भी हो रही थी।इस पर उपखण्ड अधिकारी ने नाराजगी जताते हुए दुकानदारों को सड़क पर सामान हटाने की हिदायत दी। साथ ही नगरपरिषद के कार्मिकों को निर्देश देकर सड़क पर दुकानों के आगे रखे सामान को जब्त करने के निर्देश दिए। इस पर अनाज मण्डी में गणेश मंदिर के आसपास, बूरा-बताशा बाजार, सब्जी मण्डी आदि में दुकानों के आगे बैंच, स्कूल, टेबिल, लकड़ी के पटेलों को परिषद के कार्मिकों ने जब्त कर लिया।

करने लगे जद्दोजहद
कार्रवाई के दौरान कई दुकानदार अपनी बैंच-टेबिलों को बचाने के लिए कार्मिकों की गुहार करते नजर आए, लेकिन कार्मिकों ने उनकी एक नहीं सुनी और उन्हें जब्त कर परिषद के वाहनों में डाल दिया।

प्रशासन ने भांपी परेशानी
कोरोना महामारी के चलते इन दिनों प्रदेश में जन अनुशासन पखवाड़े के तहत सख्त कफ्र्यू चल रहा है, लेकिन सोमवार को पहले दिन ही बाजारों में खूब भीड़ उमड़ी थी और सोशल डिस्टेसिंग की धज्जियां उड़ी थी। बाजारों में भीड़ नजर आने का एक कारण दुकानों के आगे हो रहे अस्थायी अतिक्रमण भी हैं। क्योंकि सड़क पर सामान रखने से आवागमन के जगह कम बचती है। ऐसे में एक साथ भीड़ नजर आती है। इस स्थिति को भांप कर प्रशासन ने अनाज मण्डी क्षेत्र में सड़क पर सामान को हटाने की कार्रवाई की।

अचानक कार्रवाई से आए सकते में
गौरतलब है कि शहर के भीतर के बाजारों में दुकानदार लम्बे समय से सड़क पर बैंच, स्टूल, लकड़ी के तख्ते सहित अन्य सामान रख लेते हैं। इससे बाजार संकुचित होने की समस्या रहती है और आवागमन बाधित होता है । भीड़ के कारण बार बार जाम लगने की नौबत भी आती है। जब भी अतिक्रमण को हटाने की मुहिम चलती रही है तब पहले से दुकानदार सामान को हटा लेते थे। लेकिन मंगलवार को प्रशासन ने इस समस्या को महसूस कर सड़क से सामान को हटाने की यकायक कार्रवाई कर डाली। इससे दुकानदार सकते में आ गए।


इनका कहना है..
कफ्र्यू के तहत कोरोना गाइड लाइन की पालना के लिए बाजारों में दौरा किया। इस दौरान सोशल डिस्टेसिंग की पालना नहीं हो पा रही थी। दुकानदारों ने सड़क सीमा तक अतिक्रमण कर रखा था, जिसे हटाया गया। कोरोना गाइड लाइन की पालना के लिए सख्ती बरती जाएगी।
देवेन्द्र सिंह परमार, उपजिला कलक्टर, करौली

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned