...ताकि सौर ऊर्जा के साथ बूंद-बूंद सिंचाई के प्रति किसानों का बढ़े रूझान

आरडब्ल्यूएसएलआईपी के तहत कालीसिल सिंचाई परियोजना में शामिल हैं 30 गांव
किसानों को मिलेगा 75 फीसदी अनुदान

By: Dinesh sharma

Published: 27 Jun 2021, 10:45 AM IST

करौली. सौर ऊर्जा के प्रति किसानों का रूझान बढ़ाने के साथ फव्वारा खेती एवं बूंद-बूंद सिंचाई की मंशा से सपोटरा क्षेत्र की कालीसिल सिंचाई परियोजना (कालीसिल बांध) क्षेत्र के करीब ढाई दर्जन गांवों की भूमि को सिंचित के लिए इस वर्ष के लिए विभाग को लक्ष्य प्राप्त हुए हैं। इसके लिए किसानों को विभाग की ओर से अतिरिक्त अनुदान भी दिया जाएगा। उद्यानिकी विभाग की ओर से कालीसिल बांध क्षेत्र से सिंचित होने वाले गांवों में 75 फीसदी अनुदान किसानों को दिया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा राजस्थान जल क्षेत्र आजीविका सुधार परियोजना (आरडब्ल्यूएसएलआईपी) के तहत कालीसिल सिंचाई परियोजना क्षेत्र के 30 गांवों का गत वर्ष चयन किया गया था। जिनके लिए वर्ष 2021-22 के विभाग को लक्ष्य मिले हैं।

ये गांव हैं चयनित
उद्यानिकी विभाग के अनुसार तीन वर्षीय परियोजना के तहत गत वर्ष सपोटरा क्षेत्र के अमरगढ़, रामठरा, कावंटी, भण्डारीपुरा, पुठानकापुरा, निशाना, सपोटरा, धुलवास, चौड़ागांव, खावड़ा, गज्जूपुरा, कीरतपुरा, डाबिर, औड़च, रानेटा, इनायती, जाखौदा, बूकना, खानपुर, जोड़ली, पहाड़पुरा, किशोरपुरा, झाड़ौदा, दूदीपुरा, बड़ौदा, अडूदा, गोधरपुरा, गावड़ा, एकट तथा जीरौता गांवों को शामिल किया गया था।

15 फीसदी अतिरिक्त अनुदान
विभाग की ओर से किसानों को पीएम कुसुम योजना अन्तर्गतर सोलर पम्प एवं प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना अन्तर्गत ड्रिप, मिनी एवं स्प्रिंकलर स्थापना पर 60 फीसदी अनुदान दिया जाता है, लेकिन चयनित इन गांवों में राजस्थान जल क्षेत्र आजीविका सुधार परियोजना के अन्तर्गत देय अनुदान के अतिरिक्त टॉपअप अधिकतम 75 फीसदी तक अनुदान उपलब्ध कराई जाएगी। यानि 15 फीसदी अतिरिक्त सहायता मिलेगी।

ऑनलाइन करना होगा आवेदन
उद्यान विभाग के कृषि अधिकारी अशोक कुमार मीना के अनुसार परियोजना क्षेत्र के किसान ई-मित्र के जरिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसमें नक्शा, गिरदावरी, जमाबंदी, फोटा, आधार कार्ड, भामाशाह/जनआधार कार्ड, बैंक पासबुक के साथ हार्ड कॉपी भी जमा करानी होगी।

यह मिले लक्ष्य
कालीसिल बांध क्षेत्र नहरी परियोजना में चयनित किए गए गांवों के लिए विभाग की ओर से इस सत्र के लिए लक्ष्य प्राप्त हुए हैं। इसके अनुसार 50 सोलर पम्प लगाए जाएंगे, वहीं 147 हैक्टेयर क्षेत्र में ड्रिप/मिनी स्पिं्रकलर तथा 440 हैक्टेयर क्षेत्र में स्प्रिंकलर लगाए जाएंगे।

इनका कहना है
राजस्थान जल क्षेत्र आजीविका सुधार परियोजना के अन्तर्गत कालीसिल बांध क्षेत्र के 30 गांवों का चयन हुआ था, जिनके लिए सोलर पम्प, ड्रिप, मिनी स्पिं्रकलर के लक्ष्य प्राप्त हुए हैं। इन परियोजना में चयनित किसानों को उक्त सयंत्र लगवाने पर 75 प्रतिशत अनुदान मिलेगा। इसके लिए ऑनलाइन आवेदन किसान कर सकते हैं।
रामलाल जाट, सहायक निदेशक, उद्यान, करौली

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned