ऑनलाइन परिचर्चा में मोबाइल की उपयोगिता के साथ दुरुपयोग पर डाला प्रकाश

करौली. भारत विकास परिषद की स्थानीय शाखा की ओर से आयोजित किए जा रहे अभिरुचि शिविर के तहत रविवार को भारत विकास परिषद के संस्थापक डॉ. सूरज प्रकाश की जयंती मनाई गई।

By: Dinesh sharma

Published: 27 Jun 2021, 09:24 PM IST

करौली. भारत विकास परिषद की स्थानीय शाखा की ओर से आयोजित किए जा रहे अभिरुचि शिविर के तहत रविवार को भारत विकास परिषद के संस्थापक डॉ. सूरज प्रकाश की जयंती मनाई गई। साथ ही मोबाइल के उपयोग एवं दुरुपयोग विषय पर ऑनलाइन परिचर्चा हुई।

कार्यक्रम संचालिका एवं संयोजिका अंजू गुप्ता एवं उमा गुप्ता ने बताया कि सामूहिक वंदे मातरम से शुरू हुए कार्यक्रम में परिषद के संस्कार प्रकल्प प्रभारी राजेंद्र दीवान ने भारत विकास परिषद के संस्थापक डॉ. सूरज प्रकाश के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला। परिचर्चा में जुड़े एनआईसी के तकनीकी निदेशक अनिल जैन ने मोबाइल के तकनीकी पक्ष के बारे में समझाते हुए मोबाइल के माध्यम से फोटोग्राफ, वीडियो एवं व्यक्तिगत डाटा चुराकर किए जा रहे विभिन्न प्रकार के बैंक एवं व्यक्तिगत संबंधी फ्रॉड से बचने के उपाय बताए।

परिषद के प्रांतीय आईटी सेल प्रभारी योगेंद्र सिंहल ने मोबाइल युग के विकास की व्याख्या करते हुए इसके सदुपयोग करने के तरीके बताए। महाविद्यालय शिक्षिका अंजू बामणिया ने कॉविड महामारी के दौर में मोबाइल की सार्थकता को स्पष्ट किया। साथ ही इसके अत्यधिक उपयोग के प्रति सावचेत किया। इसी क्रम में कॉलेज छात्रा शोभा गुप्ता ने कहा कि लॉक डाउन के दौरान स्कूल, कॉलेज बंद होने पर मोबाइल विद्यार्थियों का सबसे बड़ा सहारा बना और इसके कारण हमारी पढ़ाई जारी रह सकी। कार्यक्रम में अंत में परिषद के अध्यक्ष राजेंद्र गोयल एवं महिला प्रमुख मंजू लता गोयल ने परिचर्चा में ऑनलाइन जुड़े सभी वक्ताओं , सदस्यों व पदाधिकारियों का आभार व्यक्त किया ।

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned