करौली: वायरल बुखार के बीच डेंगू बुखार भी पसार रहा पैर

रोगियों की बढ़ी संख्या
जांचों में भी हो रही बढ़ोतरी

By: Dinesh sharma

Published: 20 Sep 2021, 11:56 AM IST

करौली. पिछले माह से मौसम में आए बदलाव के बाद बढ़ी मौसमी बीमारियों का दौर जारी है। इसके चलते लोग ना केवल खांसी-बुखार-जुकाम से पीडि़त हो रहे हैं, बल्कि डेंगू बुखार भी पैर पसार रहा है।

मौसमी बीमारियों के बीच डेंगू के डंक मारने से लोग चिंतित हैं। यहां सामान्य चिकित्सालय की लैब में गत माह के मुकाबले इस माह अभी तक डेंगू बुखार के आंकड़े दोगुना से अधिक पहुंच गए हैं। चिकित्सालय सूत्रों के अनुसार इस माह में अब तक जिला चिकित्सालय की लैब में हुई जांचों में 50 से अधिक रोगियों के डेंगू बुखार से पीडि़त होने की पुष्टि हुई है।

सूत्रों के अनुसार जिला चिकित्सालय की लैब में एक सितम्बर से 16 सितम्बर के बीच चिकित्सकों ने करीब 550 रोगियों की डेंगू की जांच कराई, जिनमें से 50 रोगी डेंगू से पीडि़त पाए गए हैं। सूत्र बताते हैं कि यह आंकड़ा केवल चिकित्सालय की लैब का है, जबकि निजी लैबों पर भी बड़ी संख्या में जांचें हो रही हैं। गौरतलब है कि पिछले माह एक अगस्त से 25 अगस्त के बीच 16 जनेे डेंगू से पीडि़त पाए गए थे। गौरतलब है कि गत माह बारिश थमने और तापमान में वृद्धि होने के कारण मौसमी बीमारियों का दौर शुरू हुआ था,जो अब तक जारी है। हालांकि बीते कुछ दिनों से बीच-बीच में हो रही बारिश के चलते तापमान में कमी आई है। इससे सामान्य चिकित्सालय के आउटडोर व इनडोर्र में रोगियों की संख्या में कुछ कमी तो आई है, लेकिन डेंगू डंक मार रहा है।

सावधानी बरतना जरुरी
जिले में बारिश के बाद जगह-जगह पानी भर गया, जिसके चलते मच्छर पनप रहे हैं। बारिश के मौसम में मच्छरों के पनपने से इनकी संख्या में बेशुमार वृद्धि हो जाती है। चिकित्सक बताते हैं कि मौसम के बदलाव के साथ मौसमी बीमारियों में बढ़ोतरी होती है। डेंगू के रोगी भी सामने आ रहे हैं। ऐसे में घरों में टंकियों की सफाई प्रति सप्ताह जरुरी है, वहीं कूलरों में भी अधिक दिनों तक पानी नहीं भरा होना चाहिए। खांसी-जुखाम, बुखार की शिकायत होने पर चिकित्सक की सलाह ली जानी चाहिए।

लैब में जांचों का गणित
मौसमी बीमारियों के चलते सामान्य चिकित्सालय की लैब में जांचों की संख्या में भी खूब वृद्धि हो गई है। लैब सूत्रों के अनुसार इस माह के शुरूआत से जांचों की संख्या दोगुना तक हो गई है, जिससे कामकाज का दबाव भी बढ़ा है। सूत्र बताते हैं कि पहले प्रतिदिन 100 से 125 मरीजों की जांच हो रही थी, जो अब पिछले कई दिनों से प्रतिदिन 200 से 250 रोगियों की जांच की जा रही है।

इनका कहना है..
डेंगू बुखार से पीडि़त रोगी सामने आ रहे हैं। बारिश के बाद जगह-जगह पानी भरा है, जिससे मच्छर तो पनप ही रहे हैं। बीमारियों से बचाव के लिए लोगों को घरों में टंकियों व कूलर को समय-समय पर किया जाना चाहिए। किसी भी प्रकार का बुखार आने पर तत्काल चिकित्सक को दिखाकर जांच कराई जाए।
डॉ.पूरणमल वर्मा, पीएमओ, सामान्य चिकित्सालय, करौली

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned