कजानीपुर में लगा हनुमान मेला, इस तरह के अवतारी रूप देखकर मुग्ध हो गए चौबीसा क्षेत्र के श्रद्धालु

जयकारों के बीच हुई प्राण-प्रतिष्ठा, धर्ममय हुआ माहौल...

By: Vijay ram

Published: 13 Mar 2018, 10:21 PM IST

करौली.
पटोंदा में समीप के गांव कजानीपुर में सोमवार को हनुमानजी मेले के मौके पर निकाली गई शोभायात्रा में सजी सजीव झांकियों ने लोगों का मन मोह लिया।

 

चौबीसा क्षेत्र से ग्रामीणों की उमड़ी भीड़
शोभायात्रा को देखने के लिए जाट समाज चौबीसा क्षेत्र से लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। बैंडबाजे के साथ शोभायात्रा दोपहर दो बजे बालाजी मंदिर से शुरू हुई। इससे पूर्व हनुमान मंदिर में महिलाओं ने बैंडबाजे के स्वरों पर परम्परा के अनुसार लोक नृत्य प्रस्तुत किया। शोभायात्रा में भगवान राम व हनुमानजी के जयकारे गूंज उठे। इस मौके पर श्रवण कुमार व महादेव-पार्वर्ती के तांडव नृत्य की झाांकी आकर्षण का केंद्र रही। इसके अलावा भीष्म पितामह, राम-दरबार, ब्रह्मा, विषणु, लक्ष्मी, कालिया नाग, अंजनी माता, ढोला-मारू, ठाकुर-छबीला, कालिया नाग पर नृत्य करते भगवान कृष्ण सहित करीब तीन दर्जन सजीव झांकियां शोभायात्रा में शामिल थीं।


शोभायात्रा देखने के लिए रास्ते, घरों व दुकानों की छतों पर लोगों की भीड़ रही, जिन्होंने झांकियों पर पुष्प वर्षा की। शोभायात्रा करीब पांच घंटे बाद गांव के मुख्य रास्तों से होकर पुन: बालाजी मंदिर पहुंची, जहां सामूहिक आरती कर प्रसाद वितरण किया गया। मेले में कई स्थानों पर खेल खिलौनों की दुकान सजी वहीं महिलाओं के लिए हाट बाजार लगा। मेले में नाल प्रतियोगिता में पहलवानों ने दमखम दिखाया।

 

जलसेवा की
मेले के दौरान श्री कृष्णा सेवा संस्थान कजानीपुर की ओर से श्रद्धालुओं को जल की व्यवस्था की गई। सेवा समिति के सदस्यों ने सुबह से शाम तक जल सेवा की।

लोक गीतों पर झूमे
मेले में जाट समाज चौरासी के विभिन्न अंचलों से आई ठड्डा गायन पाटियोंं ने होली गीत व धार्मिक, पौराणिक कथाओं पर आधारित गीतों की अपनी शैली में प्रस्तुति दी। कलाकारों ने ढोल की धुन पर काली दह पर खैलन आयो रे मेरो भौरों सो कन्हैया ..., हनुमान ने लंका तोड़ी आदि ठड्डा गाकर श्रोताओं की वाहवाही पाई। इस दौरान पटोंदा, खेड़ा, बरगमा, कजानीपुर, सनेट, ढिंढौरा, महू, पीपलहेड़ा, बेरखेड़ा, जमालपुर, खेड़ी चांदला, काचरोली, फुलवाड़ा, हिण्डौनसिटी, शेरपुर, धुरसी, पाली, बजीरपुर, कुसांय आदि दर्जनों गांवों की मंडली शामिल हुई। मेले की व्यवस्था में मेला कमेटी के अलावा मगन सिंह, रमेश चंद शर्मा, गोविंदसिंह, सुरेश जैन, रमेश जैन, घनयाम शर्मा, हेतराम, अतरसिंह, भीमसिंह वार्ड पंच शांतिस्वरूप, पूर्व सरपंच रामजीलाल कोली, लगान पटेल, प्रेमसिंह, शेरसिंह, घसीडया पटेल आदि ने सहयोग किया।

जयकारों के बीच हुई प्राण-प्रतिष्ठा, धर्ममय हुआ माहौल
निसूरा गांव की बीच की पट्टी में नवर्निमित मंदिर में शिव परिवार की प्राण प्रतिष्ठा के उपलक्ष्य में चल रहे धार्मिक आयोजन में सोमवार को पूर्णाहुति के साथ शिव परिवार व राधा-कृष्ण की मूर्तियों की प्राण-प्रतिष्ठा कराई गई।
आचार्य छैलबिहारी शर्मा ने मंत्रोच्चार के साथ प्राण प्रतिष्ठा कराई। इससे पहले रविवार को शिव विवाह व महास्नान कार्यक्रम हुआ। धार्मिक आयोजन से गांव का वातावरण धर्ममय हो गया। गौरतलब है कि समूचे गांव के सहयोग से मंदिर का निर्माण कराया गया। आयोजन के समापन पर पांच गांवों के लिए भण्डारा होगा। इस मौके पर पं. धीरेन्द्र शर्मा, गजानंद शर्मा, रामभरोसी, घनश्याम शर्मा, महेश शर्मा, तेजराम, बृजेश आदि मौजूद रहे। गांव के सहयोग से मंदिर निर्माण हुआ।

Vijay ram
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned