हिण्डौनसिटी.
कोरोना संक्रमण के संकट में चिकित्सा सेवाओं व संसाधनों की स्थिति देखने के लिए सोमवार को क्षेत्रीय सांसद डॉ. मनोज राजौरिया ने राजकीय चिकित्सालय का निरीक्षण किया। सांसद ने चिकित्सालय में कोविड वार्ड प्रबंंधन से लेकर ऑक्सीजल आपूर्ति के प्लांट का निरीक्षण किया। उन्होंने मौके पर मौजूद प्रशासनिक व चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को ऑक्सीजन की उपलब्धता का पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश किए। साथ ही कोविड वार्डों में सफाई व्यवस्था की स्थिति में सुधार की बात कही।
करौली जिले के दो दिवसीय दौरे पर आए सांसद राजौरिया दोपहर में राजकीय चिकित्सालय पहुंचे। जहां उन्होंने जिला कलक्टर सिद्धार्थ सिंह व अन्य अधिकारियों के साथ कोविड केयर सेंटर का सघन निरीक्षण किया। आइसोलेशन वार्डों में पहुुंच सासंद में संक्रमितों व संदिग्ध रोगियों को दी जा रही चिकित्सा सेवाओं के बारे में पूछताछ की। साथ ही ऑक्सीजन की निर्वाध उपलब्धता की जानकारी ली। वार्डों में ठहर कर रोगियों के परिजनों के सभी हाल जाने।

सफाई व्यवस्था मिली असंतोषजनक -
इस दौरान वार्डांे में गदंगी देख सांसद ने सफाई व्यवस्था पर असंतोष जताया। मौके पर मौजूद पीएमओ व अन्य अधिकारियों को कोविड वार्ड की सफाई पर खास ध्यान देने की बात कही। उन्होंने राजकीय अस्पताल परिसर एवं आस-पास के क्षेत्र का सेनिटाईजेशन कराने को स्थानीय प्रशासन को निर्देशित किया।

ऑक्सीजन उत्पादन की ली जानकारी-
निरीक्षण के दौरान सांसद ने चिकित्सालय भवन के पिछवाड़े स्थित ऑक्सीजन प्लांट में ऑक्सीजन का उत्पादन और सिलेण्डरों से जरिए की जा रही आपूर्ति का अवलोकन किया। उन्होंने प्लांट सुपरवाईजर से ऑक्सीजन की खपत और उपलब्धता के बारे में जानकारी ली। सांसद ने जिला अधिकारियों को सांसद निधि से दिए जाने वाले ऑक्सीजन सिलेण्डर एवं ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटरों में जरुरत के अनुसार हिण्डौन चिकित्सालय में भी उपलब्ध कराने तथा ऑक्सीजन एवं रेमडेसिविर व अन्य दवाईयों की निर्बाध सप्लाई के निर्देश दिए। इस दौरान भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष हेमेंद्र वशिष्ठ, जिला महामंत्री श्री धीरेन्द्र बैंसला, एडीएम सुदर्शन सिंह तोमर, एसडीएम सुरेश यादव, सीएमएचओ दिनेश मीणा, तहसीलदार मनीराम खींच सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

वेंटीलेटरों को शुरू करें उपयोग-
सांसद राजौरिया ने कोविड केयर सेंटर के आईसीयू का निरीक्षण किया। उन्होंने पीएम केयर फण्ड से मुहैया कराए सभी 9 वेंटीलेटरों को तुरंत प्रभाव से शुरू करने के निर्देश दिए। इनमें से 6 वेंटीलेटरों को सांसद की मौजूदगी में उपयोग शुरू कर दिया गया। साथ ही अन्य चिकित्सकों को भी वेंटीलेटर संचालन को प्रशिक्षण दिलाने के निर्देश दिए।

सीटी स्कैन मशीन की उठी मांग-
सांसद ने लोगों ने राजकीय चिकित्सालय में सीटी स्कैन मशीन लगवाने की मांग की। लोगोंं का कहना था कि फेंफड़ों में संक्रमण जांच के लिए रोगियों को निजी सेंटर पर महंगे दामों में सीटी स्कैन करानी पड़ रही है। इस पर सांसद ने कलक्टर से चर्चा कर मांग पूरी करने का आश्वासन दिया।

चिकित्सकों व अधिकारियों की ली बैठक-
अस्पताल के निरीक्षण के बाद सांसद ने पीएमओ कक्ष में प्रशासनिक अधिकारियों व चिकित्सकों की बैठक ली। बंद कमरे में हुई बैठक में सांसद ने चिकित्सा सेवाओं को दुरुस्त रखने पर जोर दिया। इस दौरान प्रशासनिक अधिकारियों ने चिकित्सा व कोविड प्रबंंधन में आ रही समस्याओं से अवगत कराया। अधिकारियों ने समस्याओं के समाधान के निर्देश दिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned