30 लोग जिन्हें बेटी की शादी में श्रम विभाग की ओर से 55000 दिलाने का झांसा दिया, फिर 5-5 हजार उन्हीं की जेब से दबा लिया

ठगी करने वालों से जब बात करनी चाही तो नहीं उठाईं आवेदनकर्ताओं की कॉल; जब भी वे करें डायल, मोबाइल स्विच आफ ही आता

By: Vijay ram

Published: 07 Jun 2018, 10:37 PM IST

करौली.
श्रम विभाग की डायरी बनाने के नाम पर सैकड़ों लोगों को ठगे जाने का मामला अब हिण्डौन सिटी से सामने आया है। इसे लेकर नगर परिषद क्षेत्र के 7 पार्षदों ने सभापति को पीडि़तों का दर्द बताते हुए दोषियों पर एक्शन लिए जाने की मांग की।

 

यहां वार्ड पार्षद बाबूद्दीन, उस्मान खान, मंजू जाटव, अमरसिंह जाटव, अविनाश जाटव, मनोज जाटव एवं पवन जाटव ने बताया कि उनके वार्ड क्षेत्रों में एक यूनियन के नाम से यह कहते हुए कुछ लोगों ने शिविर लगाए कि श्रम विभाग से डायरियां जारी कराएंगे। पार्षदों ने बताया कि फरवरी और मार्च में उनके वार्डों में लगाए शिविरों में श्रम डायरियों के लिए आवेदन करने वालों से प्रति आवेदन ३८० रुपए का शुल्क लिया, जिसकी रसीद भी दी गई।

 

उक्त कथित यूनियन के पदाधिकारियों ने ४५ दिवस में श्रम विभाग की डायरियां आने की बात कही, लेकिन अब तक डायरियां प्राप्त नहीं हुई। संस्था के पर्चों में अंकित मोबाइल नम्बरों पर संपर्क करना चाहा तो अधिकांश बंद मिले। जबकि एक पदाधिकारी ने आवेदनकर्ताओं को जबाव दिया कि हिण्डौन में दो व तीन अप्रैल को हुए उपद्रव में उनके दस्तावेज जल गए। पुन: आवेदन लिए जाएंगे।

 

उस बात को कई दिन बीतने के बाद आवेदनकर्ताओं ने पुन: मोबाइल पर बात करनी चाही तो मोबाइल स्विच आफ मिला। साथ ही हिण्डौन में जिस स्थान पर कार्यालय बताया, वहां वर्तमान में कार्यालय नहीं है। तब आवेदनकर्ताओं को ठगी का अहसास हुआ। इस बारे में पीडि़तों ने वार्ड पार्षदों को अवगत कराया। पार्षदों ने नगर परिषद के सभापति अरविन्द जैन एवं उपसभापति नफीस अहमद को जानकारी देते हुए ठगी करने वाली संस्था के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कराने की मांग की है।

 

४५० से ज्यादा पीडि़त आए सामने
इन पार्षदों के अनुसार सात वार्डों मेंं ४५० से ज्यादा पीडि़त सामने आए हैं। वार्ड तीन की खन्ना कॉलोनी में ७०, वार्ड चार में तिलक नगर में १००, वार्ड २७ की नीम कॉलोनी में १५, वार्ड ३३ के निसूरियानकापुरा में ३०, वार्ड ३९ के चेताकापुरा में १००, वार्ड ४० की जाटव बस्ती में ७० और वार्ड ४१ के राजनगर में २५ लोगों से श्रम विभाग की डायरी बनवाने के आवेदन लिए गए और सभी ३८० रुपए प्रति लिए गए।

 

३० लोगों से ठगेे डेढ़ लाख
पार्षद बाबूद्दीन और उस्मान ने बताया कि उनके वार्ड में ३० लोग ऐसे भी हैं, जिनसे परिवार में बेटी की शादी होने पर श्रम विभाग की ओर से दी जाने वाली ५५ हजार की सहायता का झांसा देकर प्रत्येक से ५-५ हजार रुपए लिए गए। दोनों वार्डों के ३० लोगों से डेढ़ लाख रुपए ठग लिए गए। उन परिवारों को सहायता का कोई पत्र नहीं मिला है।

 

हमने किसी को अधिकृत नहीं किया
&श्रम कल्याण विभाग ने जिले में किसी भी व्यक्ति अथवा संस्था को विभाग की डायरी एवं सहायता उपलब्ध कराने के आवेदन लेने के लिए अधिकृत नहीं किया हुआ है। श्रम कल्याण विभाग के अधिकारी अथवा प्रतिनिधि न्याय आपके द्वार शिविर में उपस्थित होकर श्रमिकों से आवेदन पत्र प्राप्त कर रहे हैं। हिण्डौन के वार्डों में विभाग की ओर से शिविर नहीं लगाए गए। यह किसी संस्था अथवा व्यक्ति ने अनाधिकृत रूप से कार्य किया है, जो गैरकानूनी है।
— शिवदेन सोलंकी, जिला श्रम कल्याण अधिकारी, करौली

 

Vijay ram
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned