राजस्थान पुलिस के सिपाहियों पर रोडवेज के कंडक्टर को पिटवाने का आरोप, करौली SP ने दिए जांच के आदेश

आरोप ये कि पुलिस अज्ञात नकाबपोश बदमाशों के खिलाफ ही मुकदमा दर्ज करना चाहती है...

By: Vijay ram

Published: 16 May 2018, 07:15 PM IST

करौली.
राजस्थान पुलिस के सिपाहियों पर रोडवेज के कंडक्टर को पिटवाने का आरोप से करौली में मामला गर्मा गया है। यहां पीड़ित विशम्बर दयाल शर्मा ने कहा है कि उसे नकाबपोशों से पिटवाया गया।

 

यह शिकायत बुधवार को एसपी तक पहुंची तो उन्होंने थाने के थानाधिकारी को जांच के आदेश दिए। एएसपी को पीडि़त ने बताया कि 13 मई को रोडवेज बस से हिण्डौन सिटी से करौली आ रहा था। इसी दौरान बस स्टैण्ड पर एक अभियुक्त के साथ वारंट लेकर लज्जाराम हैडकांस्टेबल, संतराम, ओमप्रकाश तथा वीरेन्द्र सिंह बस में चढ़े।

 

परिचालक ने उनसे बुकिंग खिड़की से सीट नम्बर आवंटित कराने को कहा। लेकिन कांस्टेबलों ने सीट नम्बर आवंटित कराने से मना कर दिया, इसी बाद में वे उससे उलझ गए। बस में लोगों ने मामला शांत करा दिया। लेकिन रास्ते में कांस्टेबलों ने फोन कर बदमाशों को बुला लिया। गुडला गांव के पास नकाबपोश बदमाश बस में चढ़े तथा उसकी जमकर डंडों से पिटाई कर दी। बीच-बचाव करने आए चालक महाराज सिंह को पीटा। इससे परिचालक घायल हो गया, घायल को करौली के अस्पताल में भर्ती कराया।

 

सदर पुलिस ने दर्ज नहीं मुकदमा
पीडि़त ने बताया कि घटना के बाद बस स्टैण्ड करौली के प्रभारी अशोक जैन के साथ आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए सदर थाने गए। लेकिन सदर थाने की पुलिस ने कहा कि आवेदन पत्र से वारंट के कागजात हटाएं जाए, तब ही मामला दर्ज किया जाएगा। आरोप लगाया कि पुलिस अज्ञात नकाबपोश बदमाशों के खिलाफ ही मुकदमा दर्ज करना चाहती है। ज्ञापन में आरोप लगाया कि अस्पताल पुलिस चौकी ने पीडि़त के पर्चा बयान भी नहीं लिए।

 

जांच के आदेश दिए
पुलिसकर्मियों द्वारा परिचालक को पिटवाने का मामला सामने आया है। इसके जांच के आदेश सदर थाना पुलिस करौली को दिए हैं।

Vijay ram
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned