गलियारों मे खुले छोड़ रखे हैं तार

गलियारों मे खुले छोड़ रखे हैं तार
Karauli photo

Shankar Sharma | Publish: Jun, 05 2015 11:45:00 PM (IST) Karauli, Rajasthan, India

कलक्ट्रेट भवन मे खुले पड़े तारों के जाल बदहाली को बयां कर रहे हैं। इससे कार्यालयों की व्यवस्थाएं भी प्रभावित होती हैं

करौली। कलक्ट्रेट भवन मे खुले पड़े तारों के जाल बदहाली को बयां कर रहे हैं। इससे कार्यालयों की व्यवस्थाएं भी प्रभावित होती हैं। बावजूद इसके अधिकारियों द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

आईएसओ दर्जा प्राप्त कलक्ट्रेट भवन अनदेखी और अव्यवस्था की भेंट चढ़ा हुआ है। साफ-सफाई ही नहीं अधिकारियों को कलक्ट्रेट के गलियारों व कार्यालयों मे विद्युत व टेलीफोन के तार झूलते नजर नहीं आते हैं। गलियारों में खुले पड़े टेलीफोन के तारों से संचार सेवा भी प्रभावित होती है। कई बार टेलीफोन ठप हो जाते हैं, तो कभी ब्रॉडबैंड सेवा प्रभावित होती है। जिसे दुरूस्त करने के लिए बीएसएनएल कार्मिकों का इंतजार करना पड़ता है। बिजली के लटकते तारों से शॉर्ट सर्किट होने का खतरा भी बना रहता है।

सुरक्षा इंतजामो की अनदेखी
कलक्ट्रेट में अग्नि जनित हादसों से बचाव के उपायों की भी अनदेखी की हुई है। दिखाने को भूतल पर अग्निशमन यंत्र लगे हुए हैं, लेकिन इनमें भरी गैस रिफिल करने की तिथि कब की निकल चुकी है।

इसके बावजूद अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया। जबकि अधिकारी दूसरी जगह निरीक्षण करते समय इन बातों को लेकर अधीनस्थों को नसीहत देते हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned