scriptLord Devnarayan's Rath Yatra came out in the midst of Tapan | तपन के बीच निकली भगवान देवनारायण की रथ यात्रा | Patrika News

तपन के बीच निकली भगवान देवनारायण की रथ यात्रा

तपन के बीच निकली भगवान देवनारायण की रथ यात्रा
हजारों लोग हुए शामिल, आस्था के हुए दर्शन
करौली जिले में श्रीमहावीरजी कस्बे में सोमवार को तेज तपन के बीच आस्थापूर्वक भगवान देवनारायण की रथ यात्रा निकाली गई। तेज धूप से बेपरवाह होकर हजारों लोगों की भागीदारी से इस मौके पर आस्था के दर्शन हुए। भगवान देवनारायण के वार्षिक मेले में हर वर्ष रथ यात्रा का आयोजन होता है। इसी क्रम में सोमवार को भगवान देवनारायण की रथयात्रा गाजे बाजे के साथ निकाली गई। इसमें विशेष तौर पर गुर्जर समाज के हजारों लोग शामिल हुए।

करौली

Published: June 07, 2022 10:21:30 am

तपन के बीच निकली भगवान देवनारायण की रथ यात्रा
हजारों लोग हुए शामिल, आस्था के हुए दर्शन
करौली जिले में श्रीमहावीरजी कस्बे में सोमवार को तेज तपन के बीच आस्थापूर्वक भगवान देवनारायण की रथ यात्रा निकाली गई। तेज धूप से बेपरवाह होकर हजारों लोगों की भागीदारी से इस मौके पर आस्था के दर्शन हुए।
भगवान देवनारायण के वार्षिक मेले में हर वर्ष रथ यात्रा का आयोजन होता है। इसी क्रम में सोमवार को भगवान देवनारायण की रथयात्रा गाजे बाजे के साथ निकाली गई। इसमें विशेष तौर पर गुर्जर समाज के हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए।
मंदिर कमेटी अध्यक्ष हरचरण पटेल ने बताया कि रथयात्रा गंभीर नदी के तट पर स्थित बड़े बगीचे से भगवान देवनारायण के जलाभिषेक के बाद प्रारंभ हुई। आगे- आगे युवा डीजे की धुन पर नृत्य कर रहे थे। यात्रा में मुख्य आकर्षण घोड़ी नृत्य था, जो संगीत पर नृत्य कर रही थी। रथ यात्रा में भगवान देवनारायण के जयघोष गूंजते रहे। रथ यात्रा कस्बे के मुख्य बाजार में होती हुई भगवान देवनारायण मंदिर प्रांगण में पहुंची और वहां धर्म सभा में परिवर्तित हो गई। मेले में किसान संघर्ष समिति के प्रदेशाध्यक्ष भामाशाह रामनिवास मीना रथ के सारथी बने।
कार्यक्रम में आयोजन कमेटी के साथ गुर्जर समाज के पंच-पटेलों ने रामनिवास मीना का भव्य स्वागत किया। इस मौके पर भामाशाह रामनिवास मीना ने भगवान देवनारायण के प्रति आस्था जताते हुए कहा कि ऐसे धार्मिक आयोजनों से भगवान के प्रति विश्वास मजबूत होता है। इससे पहले भगवान देवनारायण के रथ के सारथी की बोली अक़बरपुर पमडी थोक निवासी रेखसिंह पटेल तथा भगवान की माला की बोली धर्मलाभ अक़बरपुर बाँगर थोक के हाकिम सिंह गुर्जर के नाम रही।
इस मौके पर श्रीदिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र के अध्यक्ष सुधांशू कासलीवाल, महेंद्र कुमार पाटनी ,थानाधिकारी अब्जीत कुमार अतर सिंह एडवोकेट ने सभा को संबोधित किया। कार्यक्रम के दौरान भामाशाह रामनिवास मीना ने देवनारायण मंदिर के विकास हेतु अपनी ओर से 1 लाख 11 हजार रुपए का आर्थिक सहयोग दिया।
मेले के दौरान पंचायत समिति, श्रीमहावीरजी के उपप्रधान दर्शन सिंह गुर्जर, देवनारायण मंदिर कमेटी के अध्यक्ष हरिचरण पटेल, कैप्टेन जगदीश सिंह, पूर्व प्रधान राधेश्याम गुर्जर, बालसिंह गुर्जर, एडवोकेट अतर सिंह गुर्जर, डॉ. मानधाता सिंह, आराम सिंह, जगमोहन सिंह, नंगूराम पटेल, किरोडी मास्टर, अतरसिंह पटेल, रेखसिंह, उमराव सिंह, सोनू सिंह, राजेश सिंह गुर्जर, सुमरन पिलवाल, रामाधार गुर्जर आदि प्रमुख गुर्जर पटेल उपस्थित रहे।
तपन के बीच निकली भगवान देवनारायण की रथ यात्रा
तपन के बीच निकली भगवान देवनारायण की रथ यात्रा

देवनारायण मेले में गूंजा ईआरसीपी का मुद्दा


श्रीमहावीरजी/बालघाट पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा दिलाए जाने का मुद्दा अब मेले और कथाओं के धार्मिक आयोजनों में भी गूंजने लगा है। देवनारायण मेले में ईआरसीपी का मामला प्रमुखता से गूंजा। मेले में मुख्य अतिथि किसान संघर्ष समिति के प्रदेशाध्यक्ष भामाशाह रामनिवास मीना के गुर्जर समाज सहित सर्वसमाज के लोगों से कहा कि चंबल का पानी पूर्वी राजस्थान के 13 जिलों की धरा पर लाने के लिए उनके नेतृत्व में वे हर संघर्ष को तैयार हैं। इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम में पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) की भी चर्चा हुई। किसान संघ प्रदेश अध्यक्ष और भामाशाह रामनिवास मीना ने संबोधित करते हुए कहा कि क्षेत्र में पेयजल और सिंचाई के लिए पानी की समस्या के समाधान के लिए पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना की जरूरत है। अभी तक किसी सरकार ने इस दिशा में ध्यान नहीं दिया। इस कारण से पूर्वी राजस्थान में पानी की समस्या है। उन्होंने ईआरसीपी को राष्ट्रीय परियोजना घोषित करके इसे पूरा किए जाने की मांग की। साथ ही कहा कि इस परियोजना के लिए सभी को एकजुटता से संघर्ष करना होगा। वर्ष 2016 में तत्कालीन वसुंधरा सरकार ने 48000 करोड़ रुपए अनुमानित लागत की परियोजना को केंद्र सरकार को भेज रखा है। क्षेत्र में बिगड़ते पेयजल हालातों पर चम्बल का पानी पांचना तक लाने के लिए सभी किसान भाइयों से लामबंद होने की अपील की।इस मौके पर अमरसिंह नीमरोट , गिरीश अलीपुरा सहित दर्जनों वक्ताओं ने संबोधित किया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: उद्धव ठाकरे को बड़ा झटका, 'शिवसेना बालासाहेब' नाम से शिंदे खेमे ने बनाया नया समूहMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.