दूध में मिलावट नहीं बर्दाश्त, गुणवत्ता से बनाएं बाजार में डेयरी की साख

Milk adulteration is not tolerated, make dairy good in the market with quality

सवाईमाधोपुर कलक्टर व प्रशासक ने सरस डेयरी का किया औचक निरीक्षण

By: Anil dattatrey

Published: 10 Sep 2021, 12:02 AM IST

हिण्डौनसिटी.
सवाईमाधोपुर-करौली जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लिमिटेड़ के प्रशासक एवं सवाई माधोपुर कलक्टर राजेंद्र किशन ने गुरुवार को सरस डेयरी प्लांट का औचक निरीक्षण किया। डेयरी प्लांट परिसर का बिगड़ा हाल देख कलक्टर ने कार्मियों को खरी-खरी सुनाई। वहीं स्थानीय बाजार में डेयरी की साख बनाने के लिए गुणवत्ता पूर्ण दूध की पैकिंग करने की नसीहत दी। साथ ही स्थिति में सुधार नहीं होने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी।


भरतपुर से संभागीय आयुक्त की बैठक से सवाईमाधोपुर लौट रहे किशन दोपरह करीब 12 बजे करौली रोड स्थित सरस डेयरी प्लांट पहुंच गए। दूसरे जिले में स्थित डेयरी प्लांट में प्रशासक को आया देख कर्मचारियों मे हडकम्प मच गया। किशन से सीधे डेयरी प्लांट पहुंच दूध के संग्रहण और प्रोसेसिंग को देखा। साथ ही प्लांट प्रभारी भानुप्रताप शर्मा से डेयरी में ग्रामीण दुग्ध उत्पादक सहाकारी समितियों से दूध की आवक और खपत के बारे मे जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने संघ के सवाईमाधोपुर एमडी कार्यालय से आए राजकुमार शर्मा के साथ डेयरी के चिल्लर रुम, पैकिंग होल्डर्स,वॉयलर का निरीक्षण किया। किशन ने डेयरी प्लांट के उपकरणों की समय रखरखाब नहीं होने पर नाराजगी जताई। डेयरी कर्मियों द्वारा प्लांट में पानी के प्लोराइडयुक्त होने को मशीनों में खराबी का कारण बताया।

किशन ने मौके से ही फोन पर जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिशासी अभियंता रविन्द्र मीणा से बात की। इस दौरान डेयरी प्लांट पहुंचे सहायक अभियंता भगवान सहाय मीणा ने को डेयरी प्लांट के लिए जल योजना से पीने योग्य पानी उपलब्ध कराने की बात कही। साथ ही जलदाय विभाग की टंकी के ओवर फ्लो से डेयरी परिसर मे हो रहे जल भराव को रोकने के निर्देश दिए। इस दौरान किशन ने डेयरी संघ की एमडी द्वारा एक भी बार प्लांट का अवलोकन नहीं करने पर नाराजगी जताई। इससे पूर्व डेयरी मे आगमन पर डेयरी कर्मचारियो ने प्रशासक का बुके भेंट कर स्वागत किया।

दूध में मिलावट नहीं बर्दाश्त-
डेयरी संघ के प्रशासक राजेंद्र किशन से समितियों के सचिवों की बैठक लेकर दुग्ध संकलन बढ़ाने को कहा। साथ ही दूध की गुणवत्ता से समझौता नहीं करने की चेतावनी भी दी। उन्होंने कहा कि दूध मे किसी प्रकार की मिलावट बर्दाश्त नहीं की जाएगी। मिलावट पाए जाने पर संबंधित समिति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान समिति सचिवों ने वर्ष 2019 में कुछ माह की राशि का भुगतान करने की मांग का लेकर ज्ञापन सौंपा।

बंद बीएमसी के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश-
निरीक्षण के दौरान डेयरी संघ के प्रशासक ने करौली जिले में सभी 14 बीएमसी बंद होने पर नाराजगी जताई। उन्होंने डेयरी कर्मी राजकुमार शर्मा को बीएमसी मशीन वापस लेने अथवा वसूली कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

Anil dattatrey
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned