मंत्री रहते पुलिस के खिलाफ अनशन करने वाले नेता नहीं रहे

मंत्री रहते पुलिस के खिलाफ अनशन करने वाले नेता नहीं रहे
करौली। मंत्री रहते पुलिस के खिलाफ अनशन पर बैठने वाले पूर्वी राजस्थान के कद्दावर नेता शिवचरण सिंह का 95 साल की आयु में सोमवार को दोपहर में निधन हो गया। कुछ दिन पहले उनको ब्रेन हेमरेज हुआ था तभी से उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई थी। उनका मंगलवार को सुबह करौली में अंतिम संस्कार किया जाएगा। कुछ दिन पहले तक वे नियमित प्रात: भ्रमण करते थे और लोगों से बेवाक बातचीत करने की आदत थी। वे अपनी लम्बी आयु और स्वस्थ्य जीवन के बारे में भी बताते थे।

By: Surendra

Updated: 11 Jan 2021, 06:04 PM IST

मंत्री रहते पुलिस के खिलाफ अनशन करने वाले नेता नहीं रहे
करौली। मंत्री रहते पुलिस के खिलाफ अनशन पर बैठने वाले पूर्वी राजस्थान के कद्दावर नेता शिवचरण सिंह का 95 साल की आयु में सोमवार को दोपहर में निधन हो गया। कुछ दिन पहले उनको ब्रेन हेमरेज हुआ था तभी से उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई थी। उनका मंगलवार को सुबह करौली में अंतिम संस्कार किया जाएगा। कुछ दिन पहले तक वे नियमित प्रात: भ्रमण करते थे और लोगों से बेवाक बातचीत करने की आदत थी। वे अपनी लम्बी आयु और स्वस्थ्य जीवन के बारे में भी बताते रहते थे।
पूर्वी राजस्थान के प्रभावशाली नेताओं में शामिल शिवचरण सिंह तीन बार अलग-अलग स्थानों से विधायक निर्वाचित हुए और वर्ष 1992 से 98 तक राज्यसभा सदस्य रहे थे। इसके बाद उन्होंने सक्रीय राजनीति से संयास से लिया था। राजनीति में वे वर्ष 1962 से सक्रीय हुए और उन्होंने करौली में महाराज कुमार बृजेन्द्र पाल के खिलाफ विधानसभा का चुनाव लड़ा था। वर्ष 1967 से 72 के बीच वे महवा से और 77 से 80 के बीच बयाना से विधायक रहे। इसके बाद वर्ष 1985 में करौली से विधायक निर्वाचित हुए।
महवा से विधायक रहने के दौरान उनको राजस्थान सरकार में उपमंत्री बनाया गया था। हालांकि वर्ष 79 में भी वे मंत्री बने लेकिन उस दौरान जनता पार्टी की सरकार ढाई साल ही चल पाई थी इसलिए वे मंत्री चंद महीनों को ही रहे थे।
शिवचरण सिंह की पहचान स्पष्ट वक्ता और ईमानदार नेता के रूप में थी। उन्होंने 70 के दशक में सरकार में मंत्री रहते हुए मासलपुर में पुलिस के खिलाफ अनशन तक कर डाला था, जिस पर पूरे प्रदेश में हडकम्प मच गया था।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned