scriptOpposition to opening liquor contract near school and temple in Shastr | शास्त्री बाजार में स्कूल और मंदिर के समीप शराब का ठेका खोलने का विरोध | Patrika News

शास्त्री बाजार में स्कूल और मंदिर के समीप शराब का ठेका खोलने का विरोध

Opposition to opening liquor contract near school and temple in Shastri Bazar

विभिन्न संगठनों के लोगोंं ने तहसील में किया प्रदर्शन, एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

करौली

Published: April 18, 2022 11:41:08 pm

हिण्डौनसिटी. नई मण्डी शास्त्री बाजार में सरकारी स्कूल व हनुमान जी के मंदिर के पास शराब का ठेका खुलने के विरोध में सोमवार को विभिन्न संगठनों से जुड़े लोगों ने तहसील परिसर में प्रदर्शन किया। साथ ही एसडीएम अनूप सिंह को ज्ञापन सौंप कर शराब के ठेके को अन्यत्र स्थान पर स्थानांतरित कराने की मांग की गई।
शास्त्री बाजार में स्कूल और मंदिर के समीप शराब का ठेका खोलने का विरोध
शास्त्री बाजार में स्कूल और मंदिर के समीप शराब का ठेका खोलने का विरोध

वार्ड 10 के पार्षद कैलाश जाट, कृषि उपज मण्डी व्यापार मंडल अध्यक्ष रामगोपाल, अग्रवाल समाज के अध्यक्ष ईश्वर लाल खरेटा एवं राजकीय माध्यमिक विद्यालय नई मंडी के प्रधानाध्यापक ने अलग-अलग ज्ञापन सौंप कर बताया कि नई मण्डी का शास्त्री बाजार रिहायशी कॉलोनी है।
लेकिन इसके बीचों बीच एक दुकान में शराब का ठेका खोला जा रहा है। जबकि यहां दिनभर महिलाएं, युवतियों की आवाजाही बनी रहती है। कॉलोनी वासियों ने यह भी बताया कि जिस दुकान में शराब की दुकान खुल रही है, उसके समीप ही राजकीय माध्यमिक विद्यालय संचालित है, जिसमें करीब 250 बच्चे शिक्षा अर्जित करते है। यहां से कुछ दूरी पर ही हनुमान जी का मंदिर है, जहां सुबह-शाम भक्तों की आवाजाही रहती है।
उन्होंने बताया कि अगर यहां शराब का ठेका खुला, तो लोगों का रहना दुश्वार हो जाएगा। ऐसे में शराब की दुकान को अन्यत्र स्थान पर स्थापित किया जाए। लोगों ने चेताया कि अगर कार्रवाई नहीं हुई, तो कॉलोनी वासियों के साथ ही विभिन्न संगठनों की ओर से आंदोलन किया जाएगा। इस दौरान प्रदीप गर्ग, संतोष गर्ग बंडी भोला, राजीव गर्ग, रेखा सिंघल, आशु जैन, दिनेश शर्मा, सुरेन्द्र, महेश, आशु जैन, अनीता, भारती आदि मौजूद रहे।

ठेला और रेहड़ी वालों पल्लेदारों के बनाएं कार्ड, एनएफएसए में जुडवाएं नाम

-पार्षद के नेतृत्व में एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

हिण्डौनसिटी. शहर में ठेला गाड़ी व रेहडी चलाकर गुजारा करने वाले पल्लेदारों ने कार्ड बनाए जाने व खाद्य सुरक्षा योजना में नाम जोड़े जाने की मांग को लेकर सोमवार को पार्षद इमरान सैफी के नेतृत्व में एसडीएम अनूप सिंह को ज्ञापन सौंपा।
पार्षद सैफी ने बताया कि वार्ड में लगभग 40-45 पल्लेदार रहते हैं, जो कि ठेला गाड़ी व रेहडी लगाकर कर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। लेकिन नगरपरिषद प्रशासन की ओर से ना तो इनके कार्ड बनाए गए हैं, और ना ही इनके परिवारों को खाद्य सुरक्षा योजना की सूची में जोड़ा है। इस दौरान आसिफ, असलम, गब्बर, गुड्डा, कल्लू, अनीश आदि मौजूद रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: अपनी पत्नी पर खूब प्रेम लुटाते हैं इस नाम के लड़केबगैर रिजर्वेशन कर सकेंगे ट्रेन में यात्रा, भारतीय रेलवे ने जारी की सूचीनाम ज्योतिष: इन 3 नाम की लड़कियां जहां जाती हैं वहां खुशियों और धन-धान्य के लगा देती हैं ढेरजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंधन के देवता कुबेर की इन 4 राशियों पर हमेशा रहती है कृपा, अच्छा बैंक बैलेंस बनाने में रहते है कामयाबआपके यहां रहता है किराएदार तो हो जाएं सावधान, दर्ज हो सकती है एफआईआर24 हजार साल ठंडी कब्र में दफन रहा फिर भी निकला जिंदा, बाहर आते ही बना दिए अपने क्लोनअंक ज्योतिष अनुसार इन 3 तारीख में जन्मे लोगों के पास खूब होती है जमीन-जायदाद

बड़ी खबरें

महंगाई की मार! सरकार के इस फैसले से लगेगा तगड़ा झटका, 1 जून से महंगी हो जाएगी कार-बाइक की खरीदारीबंगाल के राज्यपाल के निशाने पर ममता बनर्जी के भतीजे, कहा - 'अभिषेक बनर्जी ने पार की लक्ष्मण रेखा'Haryana Congress Rally: पूर्व CM भूपेंद्र सिंह हुड्डा का बड़ा ऐलान- हमारी सरकार बनी तो 6 हजार रुपए देंगे वृद्धा पेंशनमानापाथी हिमालय के निचले इलाके में दिखा लापता नेपाली विमान, मुस्टांग में क्रैश होने की आशंका, सवार थे 22 लोगसुप्रिया सुले पर विवादित टिप्पणी के बाद बीजेपी नेता चंद्रकांत पाटील ने मांगी माफीअरविंद केजरीवाल ने कहा- हरियाणा में लाखों बच्चों का भविष्य अंधकार में, हमें मौका मिला तो बच्चे बनेंगे डॉक्टर-इंजीनियरउज्जैन की गली-गली में घूमे हैं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, शादी के कपड़े भी यहीं सिलाए, जानिए बार-बार क्यों आते थे यहांअमरनाथ यात्रा से पहले आतंकी साजिश नाकाम, ड्रोन को गिराया, स्टिकी बम बरामद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.