सरकारी अस्पताल में ऑपरेशन पर लगेगा ओटी चार्ज, अटेंडेट को वार्ड में रुकने के लिए लेना होगा पास

OT will be charged on operation in government hospital, attendant will have to take pass to stay in wardअस्पताल की आय बढ़ाने को लिए प्रस्तावहिण्डौन राजकीय चिकित्सालय की आरएमआरएस की बैठक

By: Anil dattatrey

Updated: 18 Dec 2020, 09:35 AM IST

हिण्डौनसिटी.
रा’य सरकार ने भले ही सरकारी अस्पतालों में उपचार और दवाओं सहित अधिकांश चिकित्सा सेवाओं को मुफ्त किया हुआ है। लेकिन हिण्डौन जैसे मझोले कस्बे में भी अस्पताल में रोगियों को कुछ सुविधाओं के लिए शुल्क देना पड़ेगा। चिकित्सालय व्यवस्थाओं के संचालन के लिए आय बढ़ाने के लिए अब राजकीय चिकित्सालय में भर्ती रोगियों के तीमारदारों(अटेंडेंट) को अब वार्ड में रुकने के लिए शुल्क देना होगा। वार्ड में रोगी के साथ रहने वाले परिजन के लिए चिकित्सालय प्रशासन भर्ती टिकट के साथ ही एक अटेंडेंट पास भी जारी करेगा।

गुरुवार को राजकीय चिकित्सालय में हुई राजस्थान मेडिकेयर रिलीफ सोसायटी की बैठक में सदस्यों ने 5 रुपए अटेंडेंट शुल्क का अनुमोदन किया। यह व्यवस्था नए वर्ष में एक जनवरी से लागू की जाएगी। वही बैठक में बडे ऑपरेशन पर 500 रुपए का ऑपरेशन थियेटर शुल्क(ओटी चार्ज) लगाने सहित अन्य सेवाओं व कार्यों पर शुल्क लगाने के प्रस्ताव रखे गए।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त निदेशक डा. प्रशांत कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में सदस्य सचिव पीएमओ डा. नमोनारायण मीणा के 17 जून को हुई आरएमआरएस की बैठक में प्रस्तावों की पालना रिपोर्ट पेश की। साथ ही अटेंडेंट शुल्क लगाने के लिए अनुमोदन कराया गया। पीएमओ ने बताया कि सरकार से अधिकांश चिकित्सा सेवाएं मुफ्त होन से चिकित्सालय की आरएमआरएस की आय के स्त्रोत कम हो गए हैं। ऐेस में शुल्क लगाने के प्रस्ताव रखे गए हैं। जिससे स्थानीय स्तर पर सुविधा और संसाधनों के लिए आरएमआरएस का कोष सुद्रढ़ हो सके।

किए यह शुल्क निर्धारित-
बैठक में अटेंडेंट पास शुल्क के अलावा, 500 रुपए ओटी चार्ज, सरकारी सेवा में चयनित अभ्यर्थी के स्वास्थ्य प्रमाण-पत्र शुल्क 300 रुपए, आईसीयू चार्ज 200 रुपए प्रतिदिन, दस्तावेजों की प्रमाणित प्रति लेने पर 50 रुपए शुल्क करने का प्रस्ताव रखा गया। संयुक्त निदेशक के जिला चिकित्सालय करौली के आधार पर प्रस्तावों पर अमल करने को कहा। इस दौरान चिकित्सालय में सुविधाएं और संसाधन जुटाने को लेकर 33 बिन्दुओं पर चर्चा कर प्रस्ताव लिए गए। वहीं चिकित्सालय में फोटोकॉपीयर्स मशीन खरीदने व गार्डों की संख्या बढ़ाने तय करने के लिए तीन सदस्यीय समिति का गठित करने का निर्णय लिया गया। कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर इन प्रस्तावों पर अमल किया जाएगा। बैठक में सोसायटी के सदस्य रजनीश भारद्वाज, खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.श्याम सिंहल, डॉ उमेश गुप्ता, डॉ.आशीष शर्मा, मैटर्न कमलेश वशिष्ठ, स्टोर प्रभारी हरीचरण गुप्ता, प्रयोगशाला प्रभारी कमलजीत सिंह,रमेशचंद गुप्ता व लेखाकार संजीव शर्मा मौजूद रहे।

वाहन पार्किंग का भी बढ़ेगा शुल्क-
आरएमआरएस की बैठक में अस्पताल परिसर में वाहन पार्किंग का शुल्क बढाऩे का प्रस्ताव भी लिया गया। बैठक में12 घंटे की अवधि के लिए साईकिल 5 रुपए, बाइक 10 रुपए व कार-जीप को खड़ा करने के लिए 20 रुपए पार्किंग शुल्क लेने का प्रस्ताव रखा गया।

बैठक में यह लिए प्रस्ताव-
छह माह बाद हुई आरएमआरएस की बैठक में सदस्यों ने 33 प्रस्तावों पर चर्चा की। इसमें खास तौर पर अस्पताल भवन में विद्युत व्यवस्था में सुधार के साथ सुदृढ़ फायर फाइटिंग सिस्टम तय पर चर्चा की गई। इसके अलावा प्लास्टिक की नई टंकियां खरीदने, भवन के इमरजेसी के बाहर इंटरलॉकिंग टाइल फर्श निर्माण, एमएनजेवाई व एमएनडीवाई कार्मिकों को वार्षिक बजट प्राप्त होने तक आरएमआरएस से मानदेय भुगतान देने,मल्टीपल यूरिन स्ट्रिप खरीदने, स्ट्रेचर व व्हील चेयर क्रय करने व पुलिस चौकी स्थापना के लिए संभागीय आयुक्त को प्रस्ताव भेजने पर चर्चा की गई।

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned