गम्भीर नदी के लिए जल्दी खुलेगा पांचना का पानी

गम्भीर नदी के लिए जल्दी खुलेगा पांचना का पानी, जनप्रतिनिधियों से संवाद में मुख्यमंत्री ने दिए आदेश
करौली। क्षेत्र की पानी की समस्या के समाधान की दृष्टि से पांचना बांध से गम्भीर नदी में पानी छोड़ा जाएगा। यह आदेश मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार रात जनप्रतिनिधियों से वीडियो कांफ्रेस संवाद के दौरान दिए। संवाद में सांसद मनोज राजौरिया, सपोटरा विधायक रमेश मीणा, करौली विधायक लाखनसिंह तथा टोडाभीम विधायक पीआर मीणा ने अपने क्षेत्र की समस्याएं बताईं। इनमें इलाके की पेयजल समस्या प्रमुख थी।

By: Surendra

Published: 10 May 2020, 10:13 PM IST

गम्भीर नदी के लिए जल्दी खुलेगा पांचना का पानी
जनप्रतिनिधियों से संवाद में मुख्यमंत्री ने दिए आदेश
पानी की समस्या प्रमुख रूप से आई सामने
करौली। क्षेत्र की पानी की समस्या के समाधान की दृष्टि से पांचना बांध से गम्भीर नदी में पानी छोड़ा जाएगा। यह आदेश मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार रात को जनप्रतिनिधियों से वीडियो कांफ्रेस में किए गए संवाद के दौरान दिए। इस संवाद में क्षेत्रीय सांसद मनोज राजौरिया, सपोटरा विधायक रमेश मीणा, करौली विधायक लाखनसिंह तथा टोडाभीम विधायक पीआर मीणा ने अपने अपने क्षेत्र की समस्याएं बताईं। इनमें इलाके की पेयजल समस्या प्रमुख तौर पर शामिल थी। जनप्रतिनिधियों ने कहा कि हर वर्ष महावीरजी मेले में पांचना बांध से पानी छोड़ दिया जाता था लेकिन इस बार मेला नहीं भरने से पानी नहीं छोड़ा गया।
मुख्यमंत्री को जनप्रतिनिधियों ने अवगत कराया कि गम्भीर नदी के सूखी होने से नदी के किनारों के गांवों में पानी की समस्या हो रही है। कुओं का जल स्तर नीचे हैं और पशु-पक्षियों के लिए नदी में पीने को पानी नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में सभी ने मांग की कि पांचना बांध के पानी को नदी के लिए छोड़ दिया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बारे में जिला कलक्टर को आदेश दे दिए जाएंगे और बांध से जल्दी पानी छोड़ दिया जाएगा।
इस संवाद के दौरान टोडाभीम विधायक ने चम्बल परियोजना का काम ठप होने, इस परियोजना के बंद पड़ी होने से नादौती इलाके को पानी समस्या का समाधान नहीं होने की समस्या बताई। वे बोले कि उनके इलाके की पानी की समस्या का समाधान होना जरूरी है।
उन्होंने बोला कि पांचना का पानी छोडऩे के बारे में नवीन महाजन सुनते नहीं और चम्बल परियजोना के बारे में मंत्री कल्ला को कुछ पता ही नहीं है।
रमेश मीणा ने जिले के प्रवासियों को जिले में लेकर आने की व्यवस्था करने की मांग की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आने वाले मजदूरों की सुनवाई जल्दी होनी चाहिए। करौली विधायक ने भी प्रवासी मजदूरों की वापसी की समस्या उठाई। उन्होंने बंद पड़ी गुडला लिफ्ट परियोजना के काम को शुरू कराने, पांचना का पानी छोड़े जाने, करौली इलाके की पेयजल समस्या का समाधान करने की मांग भी की। उन्होंने कहा कि पहले तो लोग पानी के मारे यहां से पलायन कर जाते थे। अब तो लोग बाहर से उल्टे यहां आ रहे हैं जो पानी के लिए तरस रहे हैं।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned