scriptPanchayat Samiti Election: Money, Power and Politics for the post of P | पंचायत समिति चुनाव: प्रधान पद के लिए पैसा, पॉवर और पालिटिक्स | Patrika News

पंचायत समिति चुनाव: प्रधान पद के लिए पैसा, पॉवर और पालिटिक्स

Panchayat Samiti Election: Money, Power and Politics for the post of Pradhan

भाजपा ने डाले हथियार, निर्दलीयों के सहारे कुर्सी पर काबिज होगी कांग्रेस

कांग्रेस के 8, भाजपा के 6, बसपा के 4 व 13 निर्दलीय बने पंचायत समिति सदस्य

करौली

Published: December 22, 2021 11:30:48 pm

हिण्डौनसिटी.
पंचायत समिति हिण्डौन का प्रधान बनाने के लिए पैसा, पावर और पॉलिटिक्स का भरपूर उपयोग हो रहा है। बुधवार को आए पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव के नतीजों में जनता ने किसी भी राजनीतिक दल को स्पष्ट जनादेश नहीं दिया। कांग्रेस के 8, भाजपा के 6, बसपा के 4 और 13 निर्दलीयों के पंचायत समिति सदस्य निर्वाचित होने से दोनो दलों की गणित फैल हो गई है। भाजपा की ओर से जिस प्रत्याशी पर प्रधान पद की दावेदारी जताई जा रही थी, वह तो सदस्य का चुनाव नहीं जीत पाया। उसी सदस्य को लेकर भरतपुर और आगरा में बाडाबंदी की गई थी।
पंचायत समिति चुनाव: प्रधान पद के लिए पैसा, पॉवर और पालिटिक्स
हिण्डौनसिटी. पंचायत समिति कार्यालय भवन जहां प्रधान पद का चुनाव होगा।
आशानुकूल परिणाम नहीं आने पर चुनाव की कमान संभाल रहे भाजपाईयों ने हथियार लगभग डाल से दिए हैं। ऐसे में कांग्रेस अब निर्दलीयों के सहारे प्रधान बनाने के जुगाड़ बैठा रही है। वार्ड 7 से चुनाव जीते विधायक भरोसी लाल जाटव के पुत्र विनोद कुमार जाटव को कांग्रेस की तरफ से प्रधान पद का उम्मीदवार लगभग तय माना जा रहा है। लेकिन बहुमत के अभाव में विधायक पिता के साथ ही बड़े भाई व नगरपरिषद के सभापति बृजेश कुमार जाटव के अलावा बाड़ेबंदी की कमान संभाल रहे पूर्व प्रधान कृपाल सिंह मीणा, पूर्व चेयरमैन अरविन्द जैन के अलावा कांग्र्रेस की कोर टीम द्वारा विनोद कुमार को प्रधान का चुनाव जिताने के लिए जोड़-तोड़ के साथ ही हर तरह प्रयास किए जा रहे हैं।

दरअसल प्रदेश के मुखिया से लेकर स्थानीय विधायक कांग्रेस का होने के बावजूद सत्ताधारी दल को महज 8 सीटों पर जीत मिली हैं। प्रमुख विपक्षी दल भाजपा के प्रत्याशियों को भी जनता ने मात्र 6 सीटों पर जीत दिलाई है। बसपा ने जरुर 4 सीटों पर कब्जा कर अपना वजूद दिखाया है। लेकिन जिस प्रकार चुनाव में 13 निर्दलीय प्रत्याशियों को पंचायत समिति सदस्य चुनकर जनता ने राजनीतिक दलों को ठेंगा दिखाया है, वह कहीं ना कहीं सत्तारुढ व विपक्षी दलों के प्रति नाराजगी जाहिर करता है। दरअसल वर्ष 1959 में में गठित हुई 63 वर्ष पुरानी हिण्डौन पंचायत समिति में से दो वर्ष पहले श्रीमहावीरजी पंचायत समिति को अलग किए जाने के बाद अब 31 वार्ड है।
पहले ही कर ली गई बाड़ेबंदी-
मतदान के बाद आए रूझानों के आधार पर भाजपा और कांग्रेस की ओर से चुनाव परिणाम आने से पहले ही अपने-अपने प्रत्याशियों की बाड़ाबंदी कर ली गई। लेकिन नतीजों में स्पष्ट बहुमत नहीं मिलने की वजह से दोनो ही दलों को हताशा हाथ लगी है। ऐसे में अब बोर्ड गठन के लिए निर्दलीय जीते सदस्यों को पॉवर, पैसा और पॉलिटिक्स के प्रभाव से अपने पक्ष में करने के लिए मशक्कत हो रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकाCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतSchool Holidays in January 2022: साल के पहले महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालVideo: राजस्थान में 28 जनवरी तक शीतलहर का पहरा, तीखे होंगे सर्दी के तेवर, गिरेगा तापमानJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 24 January 2022: कुंभ राशि वालों की व्यापारिक उन्नति होगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

Punjab Election 2022: गठबंधन के तहत BJP 65 सीटों पर लड़ेगी चुनाव, जानिए कैप्टन की PLC और ढींढसा को क्या मिलाराष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के विजेताओं से पीएम मोदी ने किया संवाद, 'वोकल फॉर लोकल' के लिए मांगी बच्चों की मददब्रेंडन टेलर का खुलासा, इंडियन बिजनेसमैन ने किया ब्लैकमेल; लेनी पड़ी ड्रग्ससंसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितकर्नाटक में कोविड के 50 हजार नए मामले आने के बाद भी सरकार ने हटाया वीकेंड कर्फ्यू, जानिए क्या बोले सीएमसीएम योगी की जीत के लिए उज्जैन के श्मशान में हुई तंत्र साधना, बोले बाबा बमबमनाथ योगी का आना ज़रूरीगणतंत्र दिवस के ठीक बाद Tata ग्रुप की हो जाएगी एयर इंडियाICC Awards: शाहीन अफरीदी बने क्रिकेटर ऑफ द ईयर, पाकिस्तान के 3 खिलाड़ियों ने मारी बाजी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.