गाजे-बाजे से रवाना हुई कैलादेवी पदयात्रा

गाजे-बाजे से रवाना हुई कैलादेवी पदयात्रा

Jitendra Sharma | Publish: Oct, 14 2018 11:37:48 AM (IST) | Updated: Oct, 14 2018 11:37:49 AM (IST) Karauli, Rajasthan, India

बालघाट/नांगल शेरपुर. कस्बे के नांगलशेरपुर स्थित भैरवी माता मंदिर से शनिवार को राजराजेश्वरी कैलादेवी की सप्तमी पदयात्रा रथ व ध्वज पूजन के बाद गाजे-बाजे से रवाना हुई।

बालघाट/नांगल शेरपुर. कस्बे के नांगलशेरपुर स्थित भैरवी माता मंदिर से शनिवार को राजराजेश्वरी कैलादेवी की सप्तमी पदयात्रा रथ व ध्वज पूजन के बाद गाजे-बाजे से रवाना हुई। यात्रा को जिला परिषद सदस्य सुनील कुमार मीणा ने हरी झंडी दिखाकर
रवाना किया।
यात्रा कमेटी के मनीराम सोनी एवं बैधनाथ ने बताया कि पदयात्रा ने गांव में परिक्रमा की। इस मौके पर डीजे की धुन पर महिलाओं ने रथ के आगे खूब नृत्य किया। स्थानीय निवासी पूर्व जिला प्रमुख शिवदयाल मीना ने 51 हजार रुपए व विरमसिंह ने 21 हजार रुपए का सहयोग भण्डारे के लिए भेंट किया। पद यात्रा के कैलादेवी पहुंचने पर भण्डारा होगा।
राम जन्म का प्रसंग सुन हुए विभोर
गुढ़ाचन्द्रजी. कस्बे के पंचमेड़ी धाम स्थित नृसिंह भगवान मंदिर पर चल रहे दशहरा महोत्सव में हो रहे विभिन्न धार्मिक आयोजनों सेे कस्बे सहित आसपास के गांवों का माहौल धर्ममय बना हुआ है। महोत्सव के चलते कस्बे में मेले जैसा माहौल बना हुआ है। शनिवार को कथा का पूजन मुख्य यजमान अध्यापक लखनलाल नांद व उनकी धर्मपत्नी राजंति देवी ने पूजन किया।
कथा में आचार्य विष्णु शरण शास्त्री ने कहा कि मनुष्य परमात्मा को ढूंढने के लिए तीर्थस्थलों पर भटकता है। लेकिन उसे यह पता नहीं है कि प्रभू तो उसके हद्य में ही निवास करता है। इसलिए मनुष्य को अपने हद्य के भीतर ही ढूढऩा चाहिए।
आचार्य ने राम जन्म की कथा का सुन्दर चित्रण किया तो पांडाल जयकारों से गूंज उठा। महिलाओं ने राम जन्म की बधाई गाई। इस मौके पर भारत सरकार के शहरी विकास मंत्रालय के उपनिदेशक रामचरण मीना रिंगसपुरा ने कहा कि ऐसे आयोजनों से भाईचारा बढ़ता है।
उन्होंने भंडारे के लिए समिति सदस्यों को सहयोग राशि प्रदान की। महोत्सव में दासानुदास हुकम प्रजापत, बनवारी गोयल, अध्यापक रामरूप ढहरिया, हरकेश अध्यापक ढहरिया, महेन्द्र बना, गजेन्द्र बना, शिवचरण बाड़ा मौजूद रहे।
(निज संवाददाता)

नांदकला में भागवत कथा २५ से
गुढ़ाचन्द्रजी. नांदकला गांव में श्रीभागवत कथा २५ अक्टूबर से शुरू होगी।
आयोजक समिति के लखन मीणा अध्यापक ने बताया कि साध्वी प्रिया किशोरी वृंदावन धाम द्वारा प्रवचन किए जाएंगे। आयोजन की तैयारी शुरू कर दी गई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned