निर्धारित से अधिक शुल्क वसूलने पर तीन ई-मित्रों के अनुज्ञापत्र निलंबित

Permissions of three e-mitras suspended for charging more than the prescribed fee

-एसडीएम के निर्देश पर की कार्रवाई, एक-एक हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया

By: Anil dattatrey

Published: 10 Sep 2021, 11:33 PM IST

हिण्डौनसिटी. केन्द्र से लेकर राÓय सरकार की महत्वाकांक्षी एवं जनकल्याणकारी योजनाओं को सीधे तौर पर आमजन तक पहुंचाने का जरिया बने ई-मित्र केंद्रों पर निर्धारित से अधिक शुल्क वसूल करने पर उपखंड प्रशासन ने शुक्रवार को तीन ई-मित्र केन्द्रों के लाईसेंस निलंबित कर दिए है।

एसडीएम अनूप सिंह के निर्देशन में करीब एक दर्जन से अधिक टीमें उपखंड क्षेत्र में लगातार ई-मित्र केंद्रों का आकस्मिक निरीक्षण करने में जुटी हैं। बीते एक सप्ताह में प्रशासन की टीमों द्वारा 27 ई-मित्रों का निरीक्षण किया गया। इनमें से रेट लिस्ट और कोब्रांडेड बैनर नहीं पाए जाने पर नीम कॉलोनी स्थित हेमंत कुमार, गोमती कॉलोनी में निरंजन महावर एवं काचरौली में चन्द्रप्रकाश गुप्ता के ई-मित्र केंद्रों के अनुज्ञापत्र निलंबित किए हैं। इतना ही नहीं प्रत्येक ई-मित्र केंद्र पर एक -एक हजार रुपए की जुर्माना राशि आरोपित की गई है।

एसडीएम अनूप सिंह ने बताया कि सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं को धरातल तक पहुंचा लोगों को लाभान्वित करने के लिए ई-मित्र कियोस्क संचालित हैं। ई-मित्रों पर अलग-अलग योजनाओं के अनुसार दरें निर्धारित की गई है। लेकिन ई-मित्र केंद्र संचालक मनमानी दरों की वसूली कर रहे हैं। लगातार मिल रही शिकायतों के आधार पर एसडीएम द्वारा गठित टीमों ने शहर में 27 ई-मित्रों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान ओवरचार्जिंग के साथ ही रेट लिस्ट नहीं होने जैसी अनियमितताएं पाई गई। जिस पर तीन ई- मित्र केंद्रों के अनुज्ञापत्र निलंबित कर दिए। लगातार हो रही कार्रवाई से ई-मित्र केन्द्र संचालकों में हडकंप मचा हुआ है।

Anil dattatrey
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned