कफ्र्यू से पहले बाजार में रही रेलमपेल, कोविड गाइड लाइन की उड़ती रही दिनभर धज्जी

कफ्र्यू से पहले बाजार में रही रेलमपेल
कोविड गाइड लाइन की उड़ती रही दिनभर धज्जी
सावे के कारण भीड़ के रहे हालात, बार- बार लगा जाम

करौली: कोविड के संक्रमण को रोकने के लिए राज्यसरकार की ओर से जारी किए गए सोमवार सुबह तक के कफ्र्यू आदेश के बाद शुक्रवार शाम से शहरी क्षेत्र में सन्नाटा पसर गया।
शाम 5 बजे तक अधिकांश दुकानें बंद हो गई थी। जो कुछ खुली हुई थी, उनको पुलिसकर्मियों ने आकर बंद करा दिया। शाम 6 बजे तो बाजार में लोगों की आवाजाही थम गई।

By: Surendra

Updated: 16 Apr 2021, 07:44 PM IST

Karauli, Karauli, Rajasthan, India

कफ्र्यू से पहले बाजार में रही रेलमपेल
कोविड गाइड लाइन की उड़ती रही दिनभर धज्जी
सावे के कारण भीड़ के रहे हालात, बार- बार लगा जाम

करौली: कोविड के संक्रमण को रोकने के लिए राज्यसरकार की ओर से जारी किए गए सोमवार सुबह तक के कफ्र्यू आदेश के बाद शुक्रवार शाम से शहरी क्षेत्र में सन्नाटा पसर गया।
शाम 5 बजे तक अधिकांश दुकानें बंद हो गई थी। जो कुछ खुली हुई थी, उनको पुलिसकर्मियों ने आकर बंद करा दिया। शाम 6 बजे तो बाजार में लोगों की आवाजाही थम गई।
हालांकि इससे पहले बाजार में अफरा तफरी का माहौल बना रहा। सावे के सीजन में दो दिन बाजार बंद रहने की खबर के कारण सुबह से ही बाजारों में लोगों की सामान्य दिनों के मुकाबले भीड़ अधिक थी। दोपहर बाद तो हालत ऐसी रही कि लोगों का बाजार से निकलना भी मुश्किल हुआ। दुकानों पर भी काफी अधिक लोगों की भीड़ दिखी। इस भीड़ में सोश्यल डिस्टेंसिंग गायब थी और न लोग मास्क पहने भी नजर नहीं आए आए। वाहनों और भीड़ की रेलमपेल के कारण दोपहर बाद से अनाज मण्डी, सदर बाजार, चौधरी पाड़ा , सर्राफा आदि में बार- बार जाम लगने की नौबत आई। इस दौरान हर कोई दो दिन बाजार बंद रहने के कारण जरूरी वस्तुओं की अधिक से अधिक खरीद करने की जल्दबाजी में दिखा। इस भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिसकर्मी पूरी तरह नदारद थे। वे शाम को कफ्र्यू की समयावधि शुरू होने पर निकले।

लॉक डाउन की आशंका ने बढ़ाई भीड़

लोगों को आशंका थीकि लॉक डाउन को आगे न बढ़ा दिया जाए। इसलिए वो शुक्रवार को ही बाजार की ओर भागे।
दुकानदारों ने बताया कि सावे के सीजन में अचानक दो दिन का लॉक डाउन लगा देने से शुक्रवार को बाजार में भीड़ की स्थिति बनी। जो लोग शनिवार- रविवार में बाजार में खरीद को आने वाले थे वे भी इस आशंका में शुक्रवार को ही आ गए कि कहीं लॉकडाउन आगे न बढ़ा दिया जाए। इससे सबसे ज्यादा परेशानी दर्जी, स्वर्णकार, फर्नीचर आदि के दुकानदारों को हुई जिन्होंने शनिवार रविवार को सामान देने की बुङ्क्षकग की हुई थी। ग्राहक उनसे शुक्रवार को ही सामान की मांग करने लगे।


व्यापरिक संगठनों के प्रतिनिधियों से की चर्चा
इधर उपखण्ड अधिकारी देवेन्द्र सिंह परमार ने करौली शहर के व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों से राज्य सरकार के निर्देशानुसार शुक्रवार शाम 5 बजे से सोमवार सुबह 5 बजे तक कफ्र्यू की पालना करने को लेकर चर्चा की। उपख्ंाड अधिकारी ने बताया कि कफ्र्यू की इस अवधि मे आवश्यक सेवाओं मेडिकल, बैंकिंग, दूध, सब्जी इत्यादि के अतिरिक्त अन्य सभी दुकानों एवं व्यापारिक गतिविधियां पूर्णत: बंद रहेंगी। पुलिस प्रशासन द्वारा कोविड गाईडलाइन की सख्ती से पालना कराई जाएगी।
बैठक मे पुलिस उपाधीक्षक मनराज मीना, तहसीलदार करौली मदनलाल मीना व तहसीलदार मासलपुर भी उपस्थित थें।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned