रेलमंत्रीजी करौली में बिछाओ रेल लाइन


रेलमंत्रीजी करौली में बिछाओ रेल लाइन

महावीरजी प्रवास में रेल मंत्री से की धौलपुर-गंगापुर सिटी रेल परियोजना की मांग
करौली। भगवान महावीर के दर्शन को आए रेल मंत्री पीयूष गोयल को रेल विकास समिति के प्रतिनिधि मंडल ने रविवार रात को महावीरजी जाकर धौलपुर-गंगापुर सिटी रेल परियोजना की शीघ्र स्वीकृति की मांग की। रेल विकास समिति ने धौलपुर -सरमथुरा नैरोगेज परिवर्तन की निविदाएं आमंत्रित करने मंत्री का आभार जताया। साथ ही मांग की कि धौलपुर-गंगापुर सिटी की परियोजना की स्वीकृति भी दी जाए।

By: Surendra

Published: 30 Nov 2020, 07:28 PM IST


रेलमंत्रीजी करौली में बिछाओ रेल लाइन

रेल मंत्री से की धौलपुर-गंगापुर सिटी रेल परियोजना की स्वीकृति की मांग
महावीरजी प्रवास में करौली रेल विकास समिति ने सौंपा ज्ञापन
करौली। भगवान महावीर के दर्शन करने को आए रेल मंत्री पीयूष गोयल को रेल विकास समिति, करौली के प्रतिनिधि मंडल ने रविवार रात को महावीरजी जाकर धौलपुर-गंगापुर सिटी रेल परियोजना के विस्तृत आकलन की शीघ्र स्वीकृति की मांग की।
ज्ञापन में रेल विकास समिति ने धौलपुर -सरमथुरा नैरोगेज आमान परिवर्तन के काम की निविदाएं आमंत्रित करके बंद कार्य को शुरू करवाने के लिए मंत्री का आभार जताया। साथ ही मांग की कि धौलपुर-गंगापुर सिटी की लम्बित परियोजना की स्वीकृति भी दी जाए।
अवगत कराया कि उत्तर मध्य रेलवे के अधीन धौलपुर-गंगापुर सिटी रेल परियोजना के वर्ष 2010-11 में स्वीकृत होने के बाद तत्कालीन केंद्रीय रेल राज्य मंत्री एवं राजस्थान के मुख्य मंत्री ने 7 फरवरी 2013 को इसका सरमथुरा में शिलान्यास किया था। धौलपुर -सरमथुरा के बीच 37.7 किमी भूमि को समतल कर दिया गया और पुलों का निर्माण कार्य भी पूरा हुआ। इसी बीच 10 फरवरी 2016 को तत्कालीन राजस्थान सरकार ने नैरोगेज के हेरिटेज संरक्षण के नाम पर इस कार्य को बंद करा दिया था।
समिति की ओर से मंत्री को जानकारी दी गई कि प्रदेश में नवीन सरकार के गठन के बाद 14 अप्रेल 2019 को राजस्थान के मुख्य सचिव रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ाको पत्र लिखकर धौलपुर-गंगापुर सिटी रेल परियोजना के बारे में आग्रह कर चुके हैं। इस परियोजना के पुनरीक्षित विस्तृत प्राक्कलन की रेलवे बोर्ड से स्वीकृति नहीं मिल पाई है। हालांकि भूमि अधिग्रहण से संबन्धित प्रस्ताव तैयार करने की प्रक्रिया चल रही है ।
इस बीच उत्तर मध्य रेलवे ने अभी 26 अक्टूबर को धौलपुर-सरमथुरा के बीच आमान परिवर्तन के लिए भूमि समतलीकरण एवं अन्य कार्यों के लिए लगभग 170 करोड़ की निविदाएं हो चुकी है।
समिति की ओर से अवगत कराया गया कि रेल लाइन के अभाव में पूर्वी राजस्थान के करौली एवं धौलपुर पिछड़े जिलों का विकास थमा हुआ है । पश्चिम मध्य रेलवे की निर्माणाधीन दौसा-गंगापुर सिटी रेल परियोजना का कार्य अब लगभग पूरा हो चुका है। इस नई डाली जा रही लाइन को धौलपुर-गंगापुर सिटी परियोजना से लिंक करने पर रेलवे के लिए उपयोगी एक नवीन कारीडोर विकसित हो सकेगा। जो दक्षिण भारत के लिए कम दूरी का रहेगा।
ज्ञापन में आग्रह किया गया है कि पूर्वी राजस्थान के विकास के लिए महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे प्रयागराज द्वारा रेलवे बोर्ड को भेजे गए संशोधित लागत के प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान की जाए। ज्ञापन देने गए रेल विकास समिति के प्रतिनिधि मण्डल में समिति के महासचिव वेणुगोपाल शर्मा, सत्येन चतुर्वेदी, अरुण जिंदल, विनोद गुर्जर, पूरणप्रताप चतुर्वेदी, महेशचंद उपाध्याय, जितेन्द्र मित्तल आदि शामिल थे।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned