भर्ती को आवेदन करने वाले की पहचान बायोमेट्रिक हाजिरी से होगी, पुलिस यहां वीडियोग्राफी और CCTV की निगरानी में कराएगी परीक्षा

भर्ती को आवेदन करने वाले की पहचान बायोमेट्रिक हाजिरी से होगी, पुलिस यहां वीडियोग्राफी और CCTV की निगरानी में कराएगी परीक्षा

Vijay ram | Publish: Jul, 14 2018 05:14:04 AM (IST) Karauli, Rajasthan, India

प्रदेश में कांस्टेबल भर्ती परीक्षा होनी है। जानिए क्या पुलिस ने किए सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त, कहां 11 हजार लोग देंगे परीक्षा...

जयपुर/करौली .
प्रदेश भर में होने वाली कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में कोई अभ्यर्थी इस बार 'मुन्नाभाई' बनकर परीक्षा नहीं दे सकेगा। वजह, इस बार सूबे में अभ्यर्थियों की बायोमेट्रिक उपस्थिति होगी।

 

ऐसे में आवेदन करने वाले अंगूठे की पहचान यहां बायोमेट्रिक हाजिरी से होगी। साथ ही सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में परीक्षार्थी इम्तिहान देंगे। इसकी भी पुलिस वीडियोग्राफी कराएगी। पिछली बार पेपर आउट होने से मचे बेखेड़े के बाद पुलिस इस विषय को लेकर खासी सतर्क है।


प्रदेश में १४ एवं १५ जुलाई को कांस्टेबल भर्ती परीक्षा होनी है। जिले में दो दिन चलने वाली परीक्षा में करीब ११ हजार अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। इसमें प्रवेश द्वार से लेकर परीक्षा हॉल तक अभ्यर्थी सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में रहेंगे।

 

मुन्नाभाई बन नहीं दे सकेंगे परीक्षा
नकल की किसी भी तरह की गुुंजाइश नहीं रहे इसके लिए परीक्षा केन्द्रों पर ड्यूटी पर तैनात रहने वाले किसी भी कर्मचारी के पास मोबाइल नहीं होगा। पुलिस के अनुसार प्रदेश में पहली बार बायोमेट्रिक उपस्थिति की कवायद की जा रही है, जिससे किसी भी प्रकार की गड़बड़ी पर प्रभावी अंकुश लगाया जा सके।

 

कोचिंग सेंटरों पर भी खाकी नजर
प्रदेश में पुलिस भर्ती परीक्षा को पारदर्शिता से कराने के लिए नकल माफियाओं पर नजर रखने की दृष्टि से पुलिस कोचिंग सेंटरों की भी निगरानी कर रही है, जिससे कोचिंग करने वाले छात्र किसी भी प्रकार के झांसे में नहीं आएं। खास तौर से ऐसे लोगों से सचेत रहने को कहा जा रहा है, जो चयनित होने के बाद पैसे देने की बात कहते हैं।

 

मीटिंग में दिए निर्देश
परीक्षा के लिए केन्द्रीय विद्यालय करौली, शिवा एकेडमी सीनियर सैकंडरी स्कूल करौली, राजकीय पीजी कॉलेज करौली, नेहरू बाल निकेतन सीनियर सैकंडरी स्कूल हिण्डौनसिटी, निर्मल हैप्पी सीनियर सैकंडरी स्कूल एवं निर्मल कॉलेज हिण्डौनसिटी को परीक्षा केन्द्र बनाया गया है। इसको लेकर सोमवार को एसपी कार्यालय में बैठक हुई। एसपी ने इसको लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस मौके पर एएसपी राजेश यादव आदि मौजूद रहे।

 

इनका कहना है
प्रदेश भर में परीक्षा पूरी पारदर्शिता से होगी। नकल रोकने के लिए अभ्यर्थियों की बायोमेट्रिक उपस्थिति होगी। साथ ही प्रवेश द्वार से लेकर परीक्षा हॉल तक हर गतिविधि पर सीसीटीवी कैमरे नजर रखेंगे। परीक्षा की वीडियोग्राफी भी कराईजाएगी। नकल माफियाओं को रोकने के लिए कोचिंग सेंटर सहित अन्य पर नजर रखी जा रही है।
- अनिल कयाल, पुलिस अधीक्षक करौली।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned