स्कूली बच्चे बने हेल्पर, जुगाड़ में रखवाई साइकिलें

गोठरा. सपोटरा मुख्यालय की ग्राम पंचायत चौड़ागांव के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के छात्र शनिवार को सपोटरा उपखण्ड मुख्यालय के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में पहुचकर हेल्पर का कार्य करते नजर आए।

गोठरा. सपोटरा मुख्यालय की ग्राम पंचायत चौड़ागांव के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के छात्र शनिवार को सपोटरा उपखण्ड मुख्यालय के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में पहुचकर हेल्पर का कार्य करते नजर आए। उल्लेखनीय है कि सरकार के द्वारा शिक्षा को बढावा देने के लिए छात्राओं को नि:शुल्क साइकिल वितरण की थी।

साइकिलों को लेने के लिए विद्यालय छात्र स्कूल के समय मे सपोटरा उपखण्ड मुख्यालय पर स्थानीय स्कूल के पंचायत सहायक के साथ पहुंचे जहां पर पंचायत सहायक खड़ा था, स्कूल के बच्चे साईकिलों को जमीन से उठाकर जुगाड़ में रख रहे थे। ऐसे मे छात्रों से स्कूल के समय में चौड़ागांव से सपोटरा ६ किमी दूर ले जाकर हेल्पर का कार्य कराया जा रहा था। सपोटरा उपखण्ड मुख्यालय पहुंचने से स्कूल के छात्रों की पढाई तक चौपट हो गई। लेकिन इस ओर शिक्षा विभाग के अधिकारी अपने आंखों को मूंद कर बैठे हुए।

इधर ब्लॉक प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी नुजहत फातिमा का कहना है कि स्कूल के छात्रों ने विद्यालय से ६ किमी दूर पहुंचकर हेल्पर का कार्य किया। यह मामला मेरी जानकारी में नहीं है। यदि चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी विद्यालय में नहीं है तो वैकल्पिक व्यवस्था कराके साइकिल प्राप्त करनी चाहिए। मामले की जांच की जाएगी। वहीं चौड़ागांव स्कूल की प्रधानाचार्या सुनीता वर्मा का कहना है, कि विद्यार्थियों ने जुगाड़ में साइकिल रखी थी। बच्चों को अनुशासन के साथ कार्य करना चाहिए। विद्यालय मे चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का पद रिक्त चल रहा है।

Surendra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned