यहां लू के थपेड़ों के बीच कर रहे स्क्रीनिंग, चेक पोस्ट पर सुविधाओं का टोटा

करौली (मासलपुर). मण्डरायल में चम्बल किनारे राजघाट की तरह से यहां मासलपुर क्षेत्र में प्रवासी मजदूरों के पंजीयन तथा स्क्रीनिंग के लिए बनाई गई चेकपोस्ट भी सुविधाविहीन स्थिति में संचालित है।

By: Dinesh sharma

Updated: 10 May 2020, 08:27 PM IST

करौली (मासलपुर). मण्डरायल में चम्बल किनारे राजघाट की तरह से यहां मासलपुर क्षेत्र में प्रवासी मजदूरों के पंजीयन तथा स्क्रीनिंग के लिए बनाई गई चेकपोस्ट भी सुविधाविहीन स्थिति में संचालित है। करौली -धौलपुर की सीमा के पड़ोस में भउआपुरा गांव के एक स्कूल में यह चेक पोस्ट स्थापित की गई थी। शुरू में तो यहां स्कूल के समीप प्रवासियों के विश्राम करने और जरूरतमंदों को खाने-पीने आदि की व्यवस्था के लिए टैण्ट लगाया गया था। यह टैण्ट अगले दिन ही आंधी-बारिश में उड़ गया।

इसके बाद से यह चेक पोस्ट सुविधाओं के अभाव में संचालित है। यहां पर नियुक्त कार्मिक एक पेड़ के नीचे टेबिल-कुर्सी लगाकर बैठते हैं और आने वाले प्रवासियों का पंजीयन करने के साथ स्क्रीनिंग करते हैं। तेज गर्मी में लू के थपेड़ों के बीच यहां बैठ मुश्किल भरा होता है। पड़ोस में स्कूल और एक पाटौर है।

वहां पर प्रवासी सुस्ताने को बैठ जाते हैं। पानी की व्यवस्था पंचायत की ओर से तथा भोजन-नाश्ता का प्रबंध निजी स्तर पर की हुई है। वैसे सभी चेक पोस्ट पर प्रवासियों के लिए जो सुविधाओं की व्यवस्था के सरकार नें दिशा निर्देश दे रखे हैं लेकिन उनका अभाव दिखता है।

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned