करौली में दुकानें रहीं बंद, पसरा रहा सन्नाटा

चिकित्साकर्मियों ने किया घर-घर सर्वे
करौली में दो जनों के कोरोना संक्रमित मिलने का मामला

By: Dinesh sharma

Published: 04 Jun 2020, 08:37 PM IST

करौली. जिला मुख्यालय पर एक दिन पहले अलग-अलग इलाकों में दो कोरोना संक्रमित मिलने के बाद जीरो मोबिलिटी के चलते शहर बाहर के इलाके में सन्नाटा पसरा रहा। दुकानें बंद रही, वहीं लोगों का आवागमन भी नहीं हुआ।

हालांकि परकोटे के अन्दर शहर में दुकानें तो खुली, लेकिन ग्राहकों की संख्या काफी कम रही। शहर के अन्दर दोपहर दो बजते ही दुकानें बंद हो गईं। इसके बाद पूरे शहर में सन्नाटा पसर गया। हाइवे पर इक्के-दुक्के वाहन ही नजर आए। जबकि जीरो मोबिलिटी की पालना को लेकर जगह-जगह पुलिसकर्मी तैनात रहे।

गौरतलब है कि बुधवार को जांच रिपोर्ट में मैग्जीन इलाके में एक युवक तथा गायत्री नगर निवासी एक बैंक मैनेजर कोरोना संक्रमित पाए गए थे। उसके बाद प्रशासन ने कोरोना संक्रमितों के निवास को केन्द्र मानते हुए एक किलोमीटर की परिधि में एपिसेन्टर घोषित किया था। वहीं मैग्जीन व गायत्री नगर की 3 किमी जोन को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था। इसके चलते गुरुवार को गुलाब बाग, स्टेडियम, बस स्टैण्ड, हिण्डौन दरवाजा, हाथी घटा क्षेत्र, कलक्ट्रेट सर्किल, ट्रक यूनियन, तीन बड़, शिकारगंज, मैग्जीन आदि इलाकों में पूरी तरह दुकानें बंद रहीं। वहीं इनके अलावा एक किलोमीटर के दायरे में आ रहे अन्य कॉलोनियों में भी दुकानें बंद रहीं।

परकोटे अन्दर खुले बाजार, ग्राहकों की संख्या रही कम
शहर में परकोटे के अन्दर का हिस्सा प्रतिबंध से बाहर होने के कारण बाजार निर्धारित समय के अनुसार खुले। प्रशासन ने शहर में सुबह 7 बजे से दोपहर 2 बजे तक का दुकानों को खोलने का समय निर्धारित किया हुआ है, उसी के अनुसार सुबह बाजार खुले। हालांकि अन्य दिनों की बजाए गुरुवार को बाजार में अधिकांश दुकानें देरी से खुली।

वहीं ग्राहकों की संख्या भी काफी कम रही। आसपास के गांवों से लोग खरीदारी को नहीं पहुंची। इससे बाजार खुलने के बाद भी चहल-पहल नजर नहीं आई। इधर शहर में हाइवे पर तैनात पुलिसकर्मियों ने हाइवे पर आने-जाने वाले दोपहिया-चौपहिया वाहनों को रोककर पूछताछ की। इस दौरान आवश्यक होने पर ही उन्हें आगे जाने दिया, बाकी वाहनों को शहर में अन्दर आने से रोककर वापस लौटा दिया।

बैरिकैडिंग लगा रोके रास्ते
पुलिस-प्रशासन ने कोरोना संक्रमितों के आवासों के आसपास के रास्तों में बांस-डण्डे, बैंच आदि लगाकर आवागमन प्रतिबंधित कर दिया, जिससे उन कॉलोनियों में आवागमन बंद रहा।

अधिकारियों ने लिया जायजा
एपिसेन्टर इलाकों सहित अन्य स्थानों पर पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने दौरा कर जायजा लिया। इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर सुदर्शनसिंह तोमर, उपखण्ड अधिकारी देवेन्द्र सिंह परमार, तहसीलदार पृथ्वीराज मीना, पुलिस उपाधीक्षक महेश मीना, कोतवाली थानाधिकारी नरेन्द्र पारीक आदि विभिन्न इलाकों में पहुंचे। वहीं चिकित्साकर्मियों ने घर-घर पहुंचे दोनों इलाकों में सर्वे किया।

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned