मजबूत इरादे और ज्ञान के बूते खड़ी कर डाली सौर ऊर्जा कम्पनी

33 वर्षीय एक सफल युवा व्यवसायी की स्टोरी

बड़े व्यवसाय को ज्यादा पूंजी की जरूरत नहीं होती। इसके लिए चाहिए उस व्यवसाय के बारे में जानकारी के साथ मजबूत इच्छा शक्ति। यह विचार करौली के केशव पाराशर के हैं, जो 30 करोड़ के वार्षिक टर्नओवर वाली सौर ऊर्जा कंपनी के मालिक हैं। उनकी कंपनी मात्र सात वर्ष में 17 राज्य तथा 6 केन्द्र शासित प्रदेशों में पहुंच चुकी है। कंपनी 175 से अधिक प्रोजक्ट पूर्ण कर चुकी है जिनके जरिए से 300 मेगावॉट से अधिक बिजली उत्पादित की जा रही है।

By: Surendra

Published: 12 Jan 2021, 09:15 AM IST

मजबूत इरादे और ज्ञान के बूते खड़ी कर डाली सौर ऊर्जा कम्पनी
33 वर्षीय केशव की कम्पनी का 30 करोड़ वार्षिक का टर्न ओवर
17 राज्य और 6 केन्द्र शासित प्रदेशों में पहुंच चुकी है कम्पनी
नौकरी छोड़ खुद के व्यवसाय की पेश की है मिसाल

सुरेन्द्र चतुर्वेदी
करौली. बड़े व्यवसाय के लिए ज्यादा पूंजी की जरूरत नहीं होती बल्कि इसके लिए चाहिए उस व्यवसाय के बारे में सम्पूर्ण जानकारी के साथ बड़ी सोच और मजबूत इच्छा शक्ति। यह विचार केशव पाराशर के हैं, जो करौली के चटीकना मोहल्लेे के एक मध्यमवर्गीय परिवार से निकलकर आज 30 करोड़ के वार्षिक टर्नओवर वाली कम्पनी के मालिक हैं। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में उनकी संचालित कंपनी का कारोबार मात्र सात वर्ष में ही देश के 17 राज्यों तथा 6 केन्द्र शासित प्रदेशों तक में फैल चुका है। इतना ही नहीं प्रदेश में सौर ऊर्जा संयत्र स्थापित करने की प्रतिष्ठित पांच कंपनियों में उनकी पायनीयर पॉवर सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का नाम शामिल है। पांच वर्ष पहले उनकी कंपनी को उत्कृष्ट गुणवत्ता का आईएसओ प्रमाण पत्र भारत सरकार से मिल चुका है। सात वर्ष पहले तक केशव 30 से 40 हजार रुपए महीने की प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते थे लेकिन अपने मजबूत इरादों के साथ उन्होंने मात्र 26 साल की आयु में वर्ष 2013 में सौर ऊर्जा संयत्र स्थापित करने वाली कंपनी बनाई, जिसके जरिए से 300 से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष, अप्रत्यक्ष तौर पर रोजगार प्राप्त हो रहा है।

175 प्लांट में 300 मेगावॉट से अधिक विद्युत उत्पादन
केशव की कंपनी जगह-जगह सौर ऊर्जा के प्लांट स्थापित करती है। इसमें भूमि की व्यवस्था से शुरूआत करके वहां सौर ऊर्जा से बिजली उत्पादन फिर उसके वितरण की व्यवस्था तक का जिम्मा इस कंपनी का ही होता है। अमूमन बिजली की सप्लाई विद्युत निगम या अन्य कंपनी से एग्रीमेंट करके की जाती है। संचालित प्लांट की निर्धारित समयावधि तक देखरेख की जिम्मेदारी भी निभानी होती है। केशव के अनुसार आमतौर पर 500 किलोवाट से लेकर 5 मेगावॉट तक के संयत्र वो स्थापित कर रहे हैं। पश्चिमी राजस्थान में उन्होंने ज्यादा प्लांट लगाए हैं। इसका कारण है एक तो वहां भूमि सस्ती उपलब्ध हो जाती है। दूसरे सूरज की किरणों की तीव्रता भी अधिक है। केशव बताता है कि उनकी कंपनी 175 से अधिक प्रोजक्ट पूर्ण कर चुकी है जिनके जरिए से 300 मेगावॉट से अधिक बिजली उत्पादित की जा रही है।

नौकरी छोडऩे की उठाई जोखिम
इतनी ऊंची उड़ान भरने के लिए 33 वर्ष के केशव को परिवार का कोई सहारा नहीं मिला। इसका कारण है कि केशव के परिवार की पृष्ठभूमि सरकारी सेवा की रही है। उनके पिता शैलेष पाराशर, करौली में ही सामान्य शिक्षक हैं और बाबा पण्डित रामस्वरूप शर्मा भी शिक्षा विभाग में ही सेवारत रहे। उनके चाचा-ताऊ भी शिक्षक के रूप में सेवारत रहे हैं। ऐसे में परिवार के सदस्यों ने भी केशव से नौकरी की ही उम्मीद लगाई थी। जयपुर में इलेक्ट्रिक में बीटेक करने के बाद केशव की एक निजी कम्पनी में नौकरी लग भी गई। चार साल इस कम्पनी में सेवा करते- करते केशव के मन में सोलर प्लांट क्षेत्र में खुद का काम शुरू करने की मन में आई। इसके लिए केशव के पास ज्यादा पूंजी नहीं थी लेकिन ज्ञान खूब था। सरकार भी सोलर प्लांट को बढ़ावा देने पर जोर दे रही थी। कुछ नया और बड़ा करने की सोच को लेकर केशव ने नौकरी छोड़ी और सौर ऊर्जा संयत्र स्थापित करने का काम शुरू कर डाला।
केशव ने इस बारे में अपने परिजनों को एक साल तक जानकारी भी नहीं दी। केशव के अनुसार परिजनों को बताने का मतलब था कि वो किसी कीमत पर विजेनस के लिए सहमत नहीं होते। क्योंकि उनकी सोच पूरी तरह सर्विस करने वाली रही है। केशव के अनुसार शुरू में उनको सौर ऊर्जा प्लांट में निवेश करने वाले लोग मिल गए, जिनके निवेश की मदद से वो काम करते-करते आगे बढ़ते गए। अब अपने पैरों पर खड़े हो गए हैं। उनकी सफलता को लेकर परिजन भी गर्व करते हैं और खुद केशव को आत्म संतुष्टि महसूस होती है। केशव का कहना है कि युवाओं को केवल नौकरी की ओर तांकना या बिना पूंजी के बिजनेस नहीं कर पाने की सोच को बदलना होगा। वे अपनी नॉलेज तथा आत्मविश्वास के बूते भी काफी कुछ कर सकते हैं।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned