संविदाकर्मी को रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचा, पंचायत समिति में आया पकड़ में

संविदाकर्मी को रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचा
पंचायत समिति में आया पकड़ में
करौली जिले में मण्डरायल पंचायत समिति कार्यालय में मेढ़बंदी व टीनशेड के कार्य के बिलों का इन्दराज करने की एवज में 2 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए संविदा पर नियुक्त लेखा सहायक शिवकुमार गुप्ता को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने गिरफ्तार कर लिया।
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के पुलिस उपाधीक्षक अमरसिंह ने बताया कि मण्डरायल क्षेत्र के कैमकच्छ (रोधई) निवासी रामवतार मीणा ने एसीबी के लिए गुरुवार को शिकायत की थी

By: Surendra

Updated: 16 Oct 2020, 09:22 PM IST

संविदाकर्मी को रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचा
पंचायत समिति में आया पकड़ में
करौली जिले में मण्डरायल पंचायत समिति कार्यालय में मेढ़बंदी व टीनशेड के कार्य के बिलों का इन्दराज करने की एवज में 2 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए संविदा पर नियुक्त लेखा सहायक शिवकुमार गुप्ता को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने गिरफ्तार कर लिया।
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के पुलिस उपाधीक्षक अमरसिंह ने बताया कि मण्डरायल क्षेत्र के कैमकच्छ (रोधई) निवासी रामवतार मीणा ने एसीबी के लिए गुरुवार को शिकायत की थी कि पंचायत समिति कार्यालय में संविदा पर नियुक्त लेखा सहायक उसके पिता के नाम से अपना गांव अपना खेत योजना में स्वीकृत मेढ़बंदी व टीनशेड के कार्यो के बिलों का इन्द्राज करने की एवज में दो हजार की रिश्वत मांग रहा है। इस पर एसीबी ने शिकायत का गुरुवार को सत्यापन कराया और शुक्रवार को टीम मण्डरायल पहुंच गई। वहां पंचायत समिति कार्यालय के बाहर टीम ने घेरा डाल दिया। अंदर रामवतार द्वारा घूस की राशि शिवकुमार से लेने के कुछ क्षण बाद एसीबी टीम ने शिवकुमार को पकड़ लिया। अमरङ्क्षसह ने बताया कि रिश्वत की राशि शिवकुमार से बरामद कर ली गई। इस कार्रवाई में एसीबी टीम में बृजेश कुमार, श्यामसिंह, राकेश सिंह, गोपेन्द्र सिंह, राजीव कुमार आदि शामिल थे। यह कार्रवाई इतनी जल्दी हुई कि किसी को कुछ समझ ही नहीं आया। खुद शिवकुमार भी हक्का बक्का रह गया।
इधर इस कार्रवाई की सूचना मिलते ही पंचायत समिति परिसर में लोगों की भीड़ लग गई। लोग अलग अलग चर्चाएं करते दिखे।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned