अहिंसा नगरी में 3 अप्रेल को होगा मेले का आगाज, 8 अप्रेल को निकलेगी भगवान महावीर की रथ यात्रा


The fair will begin on April 3 in the ahinsa nagari, Lord Mahavir's Rath Yatra will come out on 8th april

मेले की बेहतर व्यवस्थाओं के लिए सभी विभागों के अधिकारियों को सौपी जिम्मेदारी

By: Anil dattatrey

Published: 07 Mar 2020, 02:00 PM IST

श्रीमहावीरजी(हिण्डौनसिटी).

श्री दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र में अपे्रल माह में भरने वाले भगवान महावीर के वार्षिक मेले की तैयारी को लेकर शुक्रवार को बैठक ली। इसमेंं पुलिस, प्रशासन सहित विभिन्न विभागों के अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की गई। मेला 3 से 9 अप्रेल तक भरेगा।
कलक्टर डॉ मोहन लाल यादव ने बैठक में मेले की व्यवस्थाओं को लेकर सभी विभाग अधिकारियों को सुरक्षा, पेयजल, बिजली, पार्किंग साफ़ सफाई यातायात व्यवस्था को सुव्यस्थिति रखने के निर्देश दिए। कलक्टर ने हिंडौन उपखंड अधिकारी को मेला मजिस्ट्रेट व तहसीलदार को सहायक मेला मजिस्ट्रेट नियुक्त किया है। मेले की शान्ति व्यवस्था की जिम्मेदारी हिण्डौन उपाधीक्षक श्योराजमल मीणा को दी है। कलक्टर ने मेले से पूर्व कस्बे में अतिक्रमणों को हटाने के निर्देश दिए। ग्रामपंचायत प्रशासन द्वारा तीन चरणों में 20, 27 मार्च व 3 अप्रेल को अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाएगी। साथ ही स्थानीय होटल व धर्मशालाओं के प्रबंधकों को बिना पहचान पत्र के नहीं ठहराने के निर्देश दिए। कलक्टर ने मेले के दौरान 24 घंटे पेयजल आपूर्ति के लिए जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिशासी अभियंता व सडक़ों की मरम्मत के लिए सानिवि के एक्सईएन को निर्देशित किया है। सफल आयोजन के लिए मेले से 2 दिन पूर्व प्रबुद्ध जन बैठक भी बुलाई जाएगी। बैठक में करौली पुलिस अतिरिक्त अधीक्षक प्रकाशचंद, एसडीओ सुरेश यादव, तहसीलदार रामकरण मीना,थाना अधिकारी रामवीर सिंह, हिण्डौन बीडीओ लखनलाल कुंतल व मंदिर कमेटी के संयुक्त मंत्री उमराव संघी मौजूद रहे।


मेले में लगेंगी 60 रोडवेज बसें

यात्रियों की यातायात सुविधाओं के लिए अतिरिक्त बसों का संचालन किया जाएगा। इसके लिए रोडवेज की हिण्डौन डिपो द्वारा निगम द्वारा 60 अतिरिक्त बसें संचालित की जाएंगी। बसें श्री महावीरजी क्षेत्र से देश के प्रमुख शहरों के लिए संचालित होंगी।

ध्वजारोहन से होगा मेले का आगाज-

मंदिर कमेटी के प्रबंधक नेमी कुमार पाटनी ने बताया कि बैठक में कमेटी अध्यक्ष सुधांशू कासलीवाल व मानद मंत्री महेंद्र कुमार पाटनी ने मेले के कार्यक्रमों की जानकारी दी। 3 अप्रेल के मुख्य द्वार पर ध्वजारोहन के साथ मेले का आगाज होगा। 6 अप्रेल को महावीर जयंती के अवसर पर सुबह प्रभात फेरी,दोपहर में सामूहिक पूजन होगा।
शाम 4.30 बजे जिला कलक् टर विकलांग सहायता शिविर व प्रदर्शनी का उद्घाटन कर दिव्यांगों को ट्राई साइकिल व विधवा महिलाओं को सिलाई मशीन वितरित करेंगे। शाम को पूर्वी पंडाल में श्री दिगंबर जैन आदर्श महिला महाविद्यालय द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी जाएंगी। वहीं सांस्कृतिक मंच पर पर्यटन विभाग द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा। 7 अप्रेल को सांस्कृतिक संध्या व कवि सम्मेलन तथा दोपहर बाद नाजिम की सवारी निकलेगी। 8 अप्रेल को भगवान महावीर की रथ यात्रा मुख्य मंदिर से प्रारंभ होकर गंभीर नदी के तट तक निकलेगी। मेले में अंतिम दिन 9 अप्रेल को गंभीर नदी के तट पर खेलकूद प्रतियोगिताएं होंगी।

20 को छोड़ेंगे पाचना से पानी

मेला को लेकर प्रति वर्ष की तरह करौली के पाचना बांध से गंभीर नदी में पानी छोड़ा जाएगा। बैठक में 20 मार्च से गंभीर नदी में पानी छोडऩे की तिथि तय ेकी गई।



पॉलीथिन मुक्त रहेगा मेला क्षेत्र -
कलक्टर ने मंदिर कमेटी के पदाधिकारियों व प्रशासनिक अधिकारियों से मेला के पॉलीथिन व सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त बनाने के निर्देश दिए। मेला परिसर में किसी भी प्रकार की प्लास्टिक व पॉलीथिन का उपयोग नहीं किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति सजगता बरतने की बात कही।

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned