हाईकोर्ट ने कलक्टर को तलब किया तो चेता प्रशासन, दुकान-मकान पर लगाए लाल निशान

The High Court summoned the Collector, then the administration warned, red marks were put on the shop-houseविरोध के बीच चिह्नित किए अतिक्रमण, गैर मुमकिन रास्ते पर अतिक्रमण का मामला

 

By: Anil dattatrey

Published: 29 Nov 2020, 11:27 PM IST

हिण्डौनसिटी. उपखंड मुख्यालय पर मंडावरा फाटक से खन्ना कॉलोनी होकर 60 फीट रोड़ स्थित मैरिज होम तक गैर मुमकिन रास्ते पर हो रहे अतिक्रमणों के मामले में राजस्थान उच्च न्यायालय द्वारा कलक्टर को तलब किए जाने के बाद स्थानीय प्रशासन के अधिकारी कुंभकर्णी नींद से जागे।

रविवार को सरकारी अवकाश होने के बावजूद नगरपरिषद व राजस्वकर्मियों का दल सुबह ही मौके पर पहुंच गया। जहां करीब एक दर्जन से अधिक प्रभावशाली लोगों के घरों के आसपास अतिक्रमण चिह्नित किए। कार्मिकों ने अतिक्रमण के दायरे में आने वाले मकान, दुकान व चारदीवारी पर लाल निशान लगा डिमार्केशन की कार्रवाई की।


राजस्व विभाग के भू-अभिलेख निरीक्षक रामनिवास जाटव व नगरपरिषद के सहायक नगर नियोजक विनोद शर्मा ने बताया कि गैर मुमकिन रास्ते की भूमि पर अतिक्रमणों के मामले में कई अतिक्रमण चिह्नित किए हैं। जिनको जल्द ही हटाने की कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान शहर हल्का पटवारी प्रेमसिंह गुर्जर, खेमचंद जाटव समेत राजस्व विभाग व नगरपरिषद के कई कार्मिक मौजूद थे।

प्रशासन ने जारी की अतिक्रमियों की सूची-
डिमार्केशन के बाद प्रशासन ने गैर मुमकिन रास्ते पर कब्जा करने वाले अतिक्रमियों की सूची जारी कर दी। राजस्व विभाग की ओर से जारी सूची के मुताबिक मंडावरा फाटक से खन्ना कॉलोनी होते हुए 60 फीट रोड़ तक के इस रास्ते में पुखराज मीणा, मुनेश मीणा, गफ्फार खान, अब्दुल रज्जाक, पूर्व पार्षद बाबुद्दीन, विक्रम गुर्जर, सुरेशचंद चतुर्वेदी, घनश्याम, कपिल चतुर्वेदी, शिवदयाल शर्मा, भगवत शर्मा व ग्राम विकास अधिकारी खेमचंद ने अतिक्रमण कर रास्ते को अवरुद्ध किया हुआ है। नगर परिषद द्वारा नोटिस देकर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाएगी।

यह है पूरा मामला-
उल्लेखनीय है कि मंडावरा फाटक से खन्ना कॉलोनी होते हुए 60 फीट रोड स्थित एक मैरिज गार्डन तक खसरा नंबर 60 में गैर मुमकिन रास्ता अंकित है। कुछ प्रभावशाली लोगों ने पक्की चारदीवारी निर्माण कर रास्ते को अवरुद्ध कर दिया है। मामले में वर्धमान नगर के वमनपुरा निवासी जुगल चतुर्वेदी द्वारा हाईकोर्ट में में याचिका दायर की गई थी। जिस पर हाईकोर्ट की खंडपीठ ने जिला कलक्टर को अतिक्रमण हटाने के आदेश दिए थे। लेकिन छह माह बाद भी अतिक्रमण नहीं हटने पर हाईकोर्ट ने सख्ती दिखाते हुए विगत 26 नवम्बर को आदेश जारी कर करौली कलक्टर को 15 फरवरी को होने वाली पेशी पर तलब किया है।

एकतरफा कार्रवाई का आरोप, किया प्रदर्शन-
प्रशासन की इस कार्रवाई का स्थानीय लोगों ने विरोध भी किया। स्थानीय निवासी सुरेश शर्मा, भूपेन्द्र शर्मा, प्रकाश चतुर्वेदी, विशम्बर, उदयभान, विकास, ओमप्रकाश, मुकेश आदि ने बताया कि गैर मुमकिन रास्ते पर जिन लोगों ने अतिक्रमण कर रखे हैं, प्रशासन उनको नजरअंदाज कर बचाने का प्रयास कर रहा है। लोगों ने राजस्व कर्मियों पर अतिक्रमियों से मिलीभगत के आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया। इस दौरान रामकेश गुर्जर, हरीश, भगवत, सुशील, राधा, गुड्डी, कुम्हेर आदि मौजूद थे।

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned