कच्छा-बनियान गिरोह का आतंक,शहर से गांव तक लोगों में खौफ

कच्छा-बनियान गिरोह का आतंक,शहर से गांव तक लोगों में खौफ

Anil dattatrey | Updated: 02 Aug 2019, 12:26:50 PM (IST) Karauli, Karauli, Rajasthan, India

The horrors of the kachcha-baniyan gang, the horror of people from the city to the village.Attempt to kidnap a girl sleeping near grandmother in Dhindora village. Gold coil pulled from the ear of old

कच्छा-बनियान गिरोह का आतंक,शहर से गांव तक लोगों में खौफ.-ढिंढोरा गांव में दादी के पास सो रही बालिका को अगवा करने का प्रयास. वृद्धा के कान से खींच ले गए सोने का कुंडल

हिण्डौनसिटी. उपखंड क्षेत्र में शहर से लेकर गांवों तक कच्छा-बनियान गिरोह का आतंक फैला हुआ है। लोगों के खौफजदा होने से पुलिस प्रशासन भी चिंतित है। तीन दिन पूर्व मोहनगर में वृद्ध दम्पती के घर में घुसने के बाद बुधवार रात बदमाशों ने ढिंढोरा गांव के दो घरों में वारदातों को अंजाम दिया। बदमाशों ने एक घर में घुस दादी के साथ सो रही आठ वर्षीय बालिका को अगवा करने का प्रयास किया, लेकिन शोर मचाने पर वृद्धा के कान से सोने का कुंडल खींच भाग गए। जबकि दूसरी वारदात में बदमाश एक घर में खूंटी पर टंगे हुए कुर्ता को उठा ले गए। जिसकी जेब में ५०० रुपए रखे हुए थे। सूचना मिलने पर देर रात सूरौठ थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची तथा पीडि़तों से जानकारी ली। वारदातों के बाद ग्रामीणों को पूरी रात भय के साए में गुजारनी पड़ी। पुलिस ने पीडि़त परिवार की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की है।

सूरौठ थानाप्रभारी दिनेशचंद मीणा ने बताया कि बीती रात करीब दो बजे ढिंढोरा गांव में खेत पर बने हरनाम सिंह जाट के घर में बदमाश घुस गए तथा उसकी पत्नी रामादेवी के साथ पलंग पर सो रही आठ वर्षीय पोती वैसना को गोद में उठा कर ले जाने लगे। बालिका के चिल्लाने पर वृद्धा रामादेवी की नींद खुल गई और उसने शोर मचाना शुरू कर दिया। इसके बाद बदमाशों ने लडकी को फेंक दिया और रामादेवी के कान से सोने का कुंडल खींच कर बाजरे के खेतों में भाग गए। कुंडल खींचने के लिए झटकने से वृद्धा का कान बुरी तरह जख्मी हो गया। इसके बाद बदमाश ढिंढोरा में दयाचंद भगत के घर में घुस गए। जहां बरामदे में खूंटी पर टंगे कुर्ता को ले गए। किवाड़ों की आवाज सुन परिवार के लोगों की नींद खुली, लेकिन तब तक बदमाश भाग गए। वारदातों के बाद पुलिस द्वारा तीन टीमें गठित कर अलग-अलग क्षेत्रों में दिन-रात गश्त शुरू की गई है। थानाप्रभारी ने बताया कि कच्छा-बनियान गैंग के पहुंचने की सूचनाओं पर पुलिस तहारपुर, हुक्मीखेड़ा, कसाने का नंगला, पाली और रीझवास गांवों में पहुंची। लेकिन वारदात की जानकारी नहीं मिली।

हिण्डौन में आठ टीम कर रहीं गश्त-
कच्छा-बनियान गिरोह के बदमाशों के साथ ही संदिग्ध लोगों की धरपकड़ के लिए शहर में पुलिस की आठ टीमें प्रभावी गश्त में जुट गई है। जानकारी के अनुसार कोतवाली थानाप्रभारी रूपसिंह जाटव, नई मंडी थानाप्रभारी विजयसिंह छोंकर, यातायात प्रभारी लोकेन्द्र सिंह की अलग-अलग टीमों के अलावा परिवहन निरीक्षक की एक टीम, कोबरा की दो टीमें व सिग्मा टीम द्वारा गश्त की जा रही है। इसके अलावा रेलवे स्टेशन क्षेत्र में आरपीएफ चौकी प्रभारी गोर्धनसिंह के नेतृत्व में गश्त शुरू की गई है।

संदिग्ध लोगों की धरपकड़ की मांग-
महिला कांग्रेस की प्रदेश सचिव अनीता जाटव ने गुरूवार को कोतवाल रूपसिंह जाटव से मुलाकात कर शहर में संदिग्ध घूमते लोगों की धरपकड़ करने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा। उन्होंने रेलवे स्टेशन, आरओबी के नीचे, माल गोदाम, बस स्टेण्ड समेत विभिन्न स्थानों पर डेरे डाल कर रहने वाले खानाबदोश लोगों पर विशेष निगरानी रखने की मांग की।

गंभीर नदी में संदिग्ध व्यक्ति देख घबराए लोग पुलिस ने रात भर की तलाश
हिण्डौनसिटी.
श्रीमहावीरजी उपतहसील के शांतिवीर नगर के पास गंभीर नदी में तटीय क्षेत्र में संदिग्ध व्यक्तियों के घूमने की सूचना पर ग्रामीणों में भय व्याप्त हो गया। इसकी सूचना पर श्रीमहावीरजी थाना पुलिस ने बुधवार को रात भर गंभीर नदी क्षेत्र में संदिग्धों की तलाशी की।
पुलिस के अनुसार बुधवार देर शाम ग्रामीणों ने नदी किनारे दो जनों के मुंह पर कपड़ा बांध कर घूमने की सूचना दी। इससे लोगों के कच्छा-बनियान गिरोह के आने का अंदेशा से भय व्याप्त हो गया। थाना प्रभारी देवेंद्र शर्मा ने बताया कि गुरुवार सुबह4 बजे तक संदिग्धों की तलाश की, लेकिन कोई नहीं मिला।


अंधेरे में नहीं दिखा बालक तो गांव में मचा हडकंप
रेवई (हिण्डौनसिटी). कच्छा-बनियान गिरोह से सम्बन्धित अफवाहों के बीच गुरुवार को समीप के कसाने का नंगला गांव में अंधेरे के कारण एक बालक परिवारजनों को दिखाई नहीं दिया, तो अपहरण की आशंका में शोर मच गया। सूचना पर सूरौठ थाना पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक बालक के मिलने से मामला शांत हो गया।
थानाप्रभारी दिनेशचंद ने बताया कि कसाने का नंगला में अंधेरे के कारण एक बालक अपनी मां को नजर नहीं आया। महिला ने घर से बाहर आकर बालक के नहीं मिलने की सूचना दी। इसके बाद बालक के अपहरण की आशंका में ग्रामीण एकत्रित हो गए। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। लेकिन कुछ देर बाद बालक के मिलने पर मामला शांत हो गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned