बूकना में पुजारी को जलाने के मामले में नया पेच: पुजारी खुद लेकर आया था पेट्रोल !

बूकना में पुजारी को जलाने के मामले में नया पेच: पुजारी खुद लेकर आया था पेट्रोल !
घटना से कुछ समय पहले के पेट्रोल पम्प के फुटेज हुए वायरल
करौली जिले में सपोटरा के बूकना गांव में भूमि विवाद में पुजारी को जिंदा जलाने के मामले में नया पेच सामने आ रहा है। मृतक पुजारी बाबूलाल पेट्रोल पम्प से बोतल में पेट्रोल लेकर आने के वीडियो और फुटेज वायरल हो रहे हैं। ये फुटेज घटना से एक डेढ़ घंटे पहले के हैं। फुटेज के आधार पर आरोपी पक्ष का दावा है कि पुजारी ने आत्मदाह किया था।

By: Surendra

Published: 19 Oct 2020, 09:08 PM IST

बूकना में पुजारी को जलाने के मामले में नया पेच: पुजारी खुद लेकर आया था पेट्रोल !
घटना से कुछ समय पहले के पेट्रोल पम्प के फुटेज हुए वायरल
मीणा समाज ने भी निर्दोषों को फंसाने का आरोप लगाते हुए दिया ज्ञापन
करौली जिले में सपोटरा के बूकना गांव में भूमि विवाद में पुजारी को जिंदा जलाए जाने के मामले में अब नया पेच उभर कर सामने आ रहा है। इस प्रकरण में मृतक पुजारी बाबूलाल द्वारा पेट्रोल पम्प से बोतल में पेट्रोल लेकर आने के वीडियो और फुटेज सोशियल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। ये फुटेज 7 अक्टूबर को घटित घटना से एक डेढ़ घंटे पहले के हैं। इन फुटेज के आधार पर मामले में आरोपी पक्ष की ओर से दावा किया जा रहा है कि पुजारी ने खुद बोतल में पेट्रोल लाकर आत्मदाह किया था।
इन फुटेज को आधार बनाते हुए सोमवार को सपोटरा में मीणा समाज के लोगों ने उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन भी सौंपा। इसमें कहा गया है कि पुजारी ने नारायण पुर टटवाड़ा रोड पर नहर के पास 100 रुपए का पेट्रोल सुबह साढ़े 8 बजे खरीदा था। ये पेट्रोल पम्प के फुटेज से स्पष्ट जाहिर है। कई लोगों ने उसको पेट्रोल लेने जाते व लौटते हुए देखा है। ज्ञापन में दावा किया है कि पुजारी ने खुद ने आत्मदाह किया था जबकि प्रकरण में समाज के निर्दोष लोगों को गलत तरीके से फंसाया गया है। इस मामले को लेकर समाज की देश भर में बदनामी और क्षेत्र के सामाजिक सौहाद्र्र को बिगाडऩे का प्रयास किया गया। ज्ञापन में निष्पक्ष अनुसंधान करने की मांग करते हुए कहा गया है कि प्रकरण में निर्दोष फंसना नहीं चाहिए और दोषी बचना नहीं चाहिए। ज्ञापन के साथ पेट्रोल पम्प से पुजारी द्वारा बोतल में पेट्रोल लेकर जाने की फुटेज भी जारी की गई है।
ज्ञापन देने से पहले मीणा समाज के लोगों की बैठक आदिवासी मीणा धर्मशाला में हुई। यहां से सभी लोग ज्ञापन देने उपखण्ड अधिकारी कार्यालय पहुंचे।

सीआईडी ले चुकी फुटेज
सूत्रों ने बताया कि पेट्रोल पम्प के ये फुटेज मामले की जांच कर रही एजेंसी सीआईडी सीबी ने भी संकलित किए हैं। इस फुटेज में दिख रहे लोगों व पेट्रोल पम्पों के कार्मिकों से भी सीआईडी सीबी ने बातचीत की थी।
उल्लेखनीय है कि मामले में दो आरोपियों कैलाश तथा दिलखुश उर्फ दिल्लू को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया जा चुका है। जबकि मामले में अभी 6 अन्य आरोपी फरार है।

जांच को उलझाने का प्रयास
इधर पुजारी पक्ष के लोगों ने तर्क दिया है कि अगर फुटेज पुजारी के हैं भी तो इससे यह साबित नहीं हो जाता कि पुजारी ने आत्मदाह किया है। हो सकता है पुजारी, आरोपी के छप्पर को जलाने के लिए पेट्रोल लेकर आया हो और विवाद व मारपीट में यह पेट्रोल उसी पर डालकर आग लगा दी गई हो। खास बात यह है कि प्रकरण में कोई भी प्रत्यक्षदर्शी गवाह सामने नहीं आने से मामले की गुत्थी उलझी हुई है।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned