चोर को मिल गया चतुर ग्राहक, बाइक चुरा OLX पर बेचने वाले की खोल दी पोल

The thief got the smart customer, Bike Chura opened the seller who sold the OLX.

Police biking the bike to see the vehicle thief
पुलिस देख बाइक को छोड़ भागे वाहन चोर

हिण्डौनसिटी. OLX और क्वीकर जैसी सेल्स वेबसाइट्स पर बिकने वाले हरेक वाहन सच्चा नहीं होता। अगर आप भी इन साइट्स के जरिए खरीदारी कर रहे हैं, तो सावधान होने की जरूरत है। यदि सौदा तय करते वक्त आपने चतुराई नहीं दिखाई तो खासी मुसीबत में फंस सकते हैं। ऐसा ही मामला सामने आया है हिण्डौनसिटी में। जहां शातिर दिमाग वाहन चोरों ने जयपुर से चुराई गई बाइक को ओएलएक्स पर बेचने के लिए डाल दिया। सौदा तय होने से ऐन पहले खरीदारों को शक हुआ तो वाहन चोर बाइक को छोड़ कर भाग गए। बाद में सूचना पर पहुंची कोतवाली थाना पुलिस ने बाइक को जब्त कर लिया।


पुलिस के अनुसार जयपुर के झोटवाड़ा इलाके के कैलाशनगर निवासी अरविन्द आर्य की बाइक 12 जुलाई को घर के सामने से चोरी हो गई। बाइक के टूल बॉक्स में ही उसका ऑरीजनल पंजीयन प्रमाण पत्र रखा हुआ था। बाइक मालिक ने इसकी प्राथमिकी सांगानेर थाने में दर्ज कराई थी।


ऑनलाइन ग्राहक की तलाश-
जानकारी के अनुसार चोरों ने भी 12 जुलाई को ही अपने मोबाइल से बाइक की फोटो खींची और उसे ऑनलाइन बेचने की मुहिम में जुट गए। चोरों ने सामान खरीदने-बेचने के लिए चर्चित वेबसाइट ओएलएक्स पर बाइक के फोटो अपलोड कर उसका मूल्य 35 हजार निर्धारित कर दिया। आरोपियों के दिए मोबाइल नंबर पर रिस्पॉन्स मिलने भी शुरू हो गए।


जाल में फंसे पर निकल भागे आरोपी-
भरतपुर जिले के वैर थाना क्षेत्र के नावर गांव निवासी दीनदयाल शर्मा ने ओएलएक्स बाइक का एड देखा तो उसे सौदा अच्छा लगा। अच्छी कंडीशन की तीन माह पुरानी बाइक 35 हजार में मिल रही थी। जबकि उसकी एक्स शोरूम प्राइस 56 हजार है। ऐसे में दीनदयाल ने एड में दिये हुए मोबाइल नंबर बातचीत शुरू की। उसको आतुर देख आरोपियों ने बाइक को देखने के लिए 13 जुलाई को सूरौठ के पास रसेरी मोड़ पर बुलाया। जहां खरीदार को बाइक पसंद आ गई। इसके बाद रविवार को आरोपियों ने खरीदार दीनदयाल को फोन किया। उसने वर्धमाननगर स्थित रिश्तेदार सत्येन्द्र पाराशर के घर सौदा करने की बात कही। शाम करीब चार बजे दो युवक बाइक को लेकर वर्धमाननगर पहुंचे।

जहां बीतचीत के दौरान शक होने पर दीनदयाल व सत्येन्द्र ने आरोपियों से विक्रयनामा लिखवाने की बात कही। और उन्हें नगरपरिषद के रैन बसेरा में लेकर पहुंच गए। जहां चुपके से खरीदार पक्ष ने पुलिस को इसकी सूचना कर दी। लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही आरोपी बाइक को छोड़ कर भाग गए। इसके बाद मौके पर पहुंचे हैडकांस्टेबल बच्चूसिंह ने खरीदार युवक से पूछताछ की। तथा बाइक को थाने ले गए। पुलिस जांच में पता चला कि बाइक 12 जुलाई को जयपुर से चुराई गई थी।

Anil dattatrey
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned