खाद्य पदार्थो की नहीं आने दी जाएगी कमी

खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री ने की प्रबंधों की समीक्षा
करौली. खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेश चंद मीना ने गुरुवार शाम को करौली कलेक्ट्रेट के सभागार में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए चल रहे लॉक डाउन के दौरान प्रशासनिक प्रबंधों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने दोहराया कि राज्यसरकार का संकल्प है कि इस संकट के दौर में कोई भी व्यक्ति भूखा न सोये और सभी को जरूरत की सामग्री उपलब्ध हो। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार स्तर पर इसकी व्यापक तैयारी कर ली गई है।


खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री ने की प्रबंधों की समीक्षा
करौली. खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेश चंद मीना ने गुरुवार शाम को करौली कलेक्ट्रेट के सभागार में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए चल रहे लॉक डाउन के दौरान प्रशासनिक प्रबंधों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने दोहराया कि राज्यसरकार का संकल्प है कि इस संकट के दौर में कोई भी व्यक्ति भूखा न सोये और सभी को जरूरत की सामग्री उपलब्ध हो। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार स्तर पर इसकी व्यापक तैयारी कर ली गई है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे यह सुनिश्चित कर लें कि घुमंतू, बेसहारा नि:शक्त कच्ची बस्ती में रहने वाले लोग, कचरा बीनने वाले, मजदूर या अन्य कोई भी निराश्रित भोजन से वंचित नहीं रहे। इसी क्रम में उन्होंने जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राजेंद्र सिंह चारण से कहा कि जिले के 809 गांवों में सचिव एवं पटवारी से सर्वे कराकर यह सुनिश्चित करें कि कोई भी लॉक डाउन में भूखा नहीं सोये। मंत्री ने आमजन से भी अपील की कि सभी लोग इस आपदा में मददगार बनें और संक्रमण को रोकने के लिए घरों में ही रहें।
उन्होंने जिला रसद अधिकारी को निर्देश दिए कि खाने के लिए राशन सामग्री के वितरण की व्यवस्था सुनिश्चित करें। कालाबाजारी व अधिक राशि वसूलने पर सख्त कार्यवाही की जाए।
उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी दिनेश मीणा को जिला, ब्लॉक व सीएससी स्तर पर चिकित्सा व्यवस्थाओं की आवश्यक सुविधाएं करने, मास्क, सेनेटाइजर की पूर्ण व्यवस्थाएं करने, स्क्रीनिंग व्यवस्था करने, भीलवाड़ा, झुंझुनूं व अन्य प्रांत या विदेश से आने वालों की सूची तैयार कर उनकी स्क्रीनिंग कराने के साथ उन्हें होम क्वारेन्टाइन करने के निर्देश दिए।
इधर जिला कलक्टर ने प्रशासनिक तैयारियों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सभी अधिकारियों को राशन सामग्री के पैकिट नियमित जरूरत मंदों तक पहुंचाने के निर्देश दिए गए हैं। इसमें भामाशाह, दानदाताओं, सामाजिक संगठनों, स्वयंसेवी संस्थाओं की मदद ली जा रही है। निराश्रित लोगों का सर्वे कराकर उनको भोजन की व्यवस्था कराई गई है।
कलक्टर ने दावा किया कि जिला प्रशासन द्वारा इस समस्या से निपटने के लिए पूर्ण तैयारियां कर ली गई है। जिला तथा ब्लाक स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं। पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार बेनीवाल ने बताया कि लॉक डाउन की पालना करवाई जा रही है। बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर सुदर्शन सिंह तोमर, उपखंड अधिकारी देवेंद्र सिंह परमार, सहायक कलेक्टर ओमप्रकाश मीणा सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

करौली : लॉक डाउन के दौरान प्रशासन की तैयारियों की समीक्षा करते मंत्री रमेश मीणा

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned