scriptThis is a double engineer: Dual B.Tech from IIT Kanpur, got a package | ये है डबल इंजीनियर:आईआईटी कानपुर से की दोहरी बीटैक,गूगल में मिला 32 लाख का पैकेज | Patrika News

ये है डबल इंजीनियर:आईआईटी कानपुर से की दोहरी बीटैक,गूगल में मिला 32 लाख का पैकेज

This is a double engineer: Dual B.Tech from IIT Kanpur, got a package of 32 lakhs in Google

सिविल व कम्प्यूटर साइंस इंजीनियरिंग की एक साथ की पढाई

राष्ट्रीय युवा दिवस

करौली

Published: January 12, 2022 11:33:08 am

हिण्डौनसिटी. इरादे मजबूत हों तो व्यक्ति लक्ष्य को प्राप्त कर लेता है। बात पढाई की हो तो मेहनत और लगन की कसौटी रखा उतरने पर ही सफलता मिलती है। आम तौर पर छात्र एक डिग्री हासिल कर पाते हैं, लेकिन हिण्डौन के इंजीनियर हितेश गुप्ता ने आईआईटी कानपुर से एक साथ दोहरी बी.टैक की डिग्री प्राप्त की है। हाल में 28 दिसम्बर को कानपुर आईआईटी कैम्पस में हुए दीक्षांत समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डबल बी.टैक की उपाधि प्रदान की।
ये है डबल इंजीनियर:आईआईटी कानपुर से की दोहरी बीटैक,गूगल में मिला 32 लाख का पैकेज
ये है डबल इंजीनियर:आईआईटी कानपुर से की दोहरी बीटैक,गूगल में मिला 32 लाख का पैकेज

हितेश ने बताया कि 15 वर्ष की आयु में कक्षा 12 वी उत्तीर्ण करने के बाद पहले प्रयास में 2015 में आईआईटी कानपुर के लिए बी.टैक पाठ्यक्रम में चयनित हो गए। काउंसलिंग में उन्हें सिविल इंजीनियरिंग ट्रेड मिली। हितेश ने बताया कि वह कम्प्यूटर साइंस टे्रड में प्रवेश चाह रहे थे। ऐसे में आईआईटी कानपुर में एक के साथ दूसरे ट्रेड में पढ़ाई का प्रावधान होने से उन्होंने सिविल के साथ कम्प्यूटर बी.टैक में प्रवेश लिया। ऐसे में उन्होंने पांच वर्ष तक सुबह सिविल इंजीनियरिंग व शाम के सत्र में कम्यूटर साइंस की कक्षाओं में दोहरी पढ़ाई की।
अभियांत्रिकी की दोहरी डिग्री के बूते हितेश गूगल कम्पनी में करीब 32 लाख रुपए वार्षिक पैकेज पर सॉ$फ्टवेयर इंजीनियर बने हैं। जो गूगल के लिए टूल डबलपर( साफ्टवेयर) का कार्य करते हैं। हितेश के पिता सुनील कुमार गुप्ता राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में भौतिक विज्ञान के व्याख्याता हैं।
मूलत: करौली जिले केे डांग क्षेत्र के कस्बे मण्डरायल निवासी हितेश के बाबा छगनलाल गुप्ता शिक्षविद हैं। वहीं बडे भाई आशीष गुप्ता दिल्ली आईआईटी से सिविल इंजीनियरिंग में बीटैक डिग्री हासिल किए हुए हैं। अशीष वर्तमान में सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय में आईईएस हैं। वहीं मझला भाई पीयूष गुप्ता आईआईएसईआर भोपाल से बीएस-एमएस की डिग्री धारक हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकाCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतSchool Holidays in January 2022: साल के पहले महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालVideo: राजस्थान में 28 जनवरी तक शीतलहर का पहरा, तीखे होंगे सर्दी के तेवर, गिरेगा तापमानJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 24 January 2022: कुंभ राशि वालों की व्यापारिक उन्नति होगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

शरीयत पर हाईकोर्ट का अहम आदेश, काजी के फैसलों पर कही ये बातCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटों में आए कोरोना के 5,760 नए मामले, संक्रमण दर 11.79%Republic Day 2022 parade guidelines: कोरोना की दोनों वैक्सीन ले चुके लोग ही इस बार परेड देखने जा सकेंगे, जानिए पूरी गाइडलाइन्सएमपी में तैयार हो रही सैंकड़ों फूड प्रोसेसिंग यूनिट, हजारों लोगों को मिलेगा कामDelhi Metro: गणतंत्र दिवस पर इन रूटों पर नहीं कर सकेंगे सफर, DMRC ने जारी की एडवाइजरीकोविड के शिकार हो चुके बच्चो को मधुमेह होने का खतरा क्यों है?वाटर टूरिज्म से बढ़ेंगे पर्यटक, रमौआ और तिघरा डैम में वाटर स्पोट्र्स एक्टिविटी की तैयारीदलित का घोड़े पर बैठना नहीं आया रास, दूल्हे के घर पर तोड़फोड़, महिलाओं को पीटा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.