चली आंधी, गुल हुई बिजली।

चली आंधी, गुल हुई बिजली।
करौली। रोज मौसम के विविध रूप देखने को मिल रहे हैं। कभी बारिश होती है तो कभी आंधी आती है। क्षेत्र में रविवार को तीसरे पहर धूल भरी आंधी चली। इससे कुछ देर के लिए चहुंओर धूल के गुबार नजर आए। वातावरण धूल धूसरित हो गया। घरों में मिटटी भर गई। अनेक पेड़ टूट गए। दोपहर तक मौसम साफ दिखा लेकिन 2 बजे बाद आसमान में धूल के गुबार बन गए। आसमान का रंग ही मटमैला नजर आने लगा। 3 बजे के आसपास धूलभरी आंधी चलने से चारों तरफ धूल ही धूल हो गई।

By: Surendra

Updated: 10 May 2020, 09:44 PM IST

चली आंधी, गुल हुई बिजली।
करौली। रोजना मौसम के विविध रूप देखने को मिल रहे हैं। कभी बारिश होती है तो कभी आंधी आती है। क्षेत्र में रविवार को तीसरे पहर धूल भरी आंधी चली। इससे कुछ देर के लिए चहुंओर धूल के गुबार नजर आए। वातावरण धूल धूसरित हो गया। घरों में मिटटी भर गई। अनेक पेड़ टूट गए।
दोपहर तक मौसम साफ दिखा लेकिन 2 बजे बाद आसमान में धूल के गुबार बन गए। इससे आसमान का रंग ही मटमैला नजर आने लगा। 3 बजे के आसपास धूलभरी आंधी चलने से चारों तरफ धूल ही धूल हो गई। शुरू में तो यह हवा गर्म थी लेकिन कुछ देर बाद में ठंड़ी हवा ने राहत दी। आंधी चलने के दौरान करौली मुख्यालय पर लगभग डेढ़ घंटे के लिए बिजली की आपूर्ति भी ठप हो गई। शाम को बूंदाबादी भी हुई। बावजूद इसके गर्मी के तेवर कमजोर नहीं दिखे। रविवार को तापमान 41 डिग्री पर रहा।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned