आखिर टाइगर क्यूं आया अभयारण्य से बाहर

आखिर टाइगर क्यूं आया अभयारण्य से बाहर

Dinesh Kumar Sharma | Updated: 02 Aug 2019, 08:07:56 PM (IST) Karauli, Karauli, Rajasthan, India

करौली शहर के नजदीकी इलाके में टाइगर के हमले से चरवाहे की मौत के बाद अनेक सवाल उठ खड़े हुए हैं।

सुरेन्द्र चतुर्वेदी
करौली शहर के नजदीकी इलाके में टाइगर के हमले से चरवाहे की मौत के बाद अनेक सवाल उठ खड़े हुए हैं। सबसे हैरत की बात यह है कि कैलादेवी अभयारण्य क्षेत्र से बाघ ने आबादी क्षेत्र की ओर कैसे रुख कर लिया। अमूमन कैलादेवी अभयारणय क्षेत्र में बाघों का मूवमेंट रहता है, जो सवाईमाधोपुर के रणथम्भौर अभयारण्य की सीमा से सटा हुआ है।

वहां से निकलकर करौली शहर के पास टाइगर के कदम रखना अचरज भरा है। जिस जगह टाइगर ने हमला किया वो स्थान कैलादेवी अभयारण्य सीमा से लगभग 30 किलोमीटर की दूरी पर है। माना जा रहा है कि करणपुर से रोधई और वहां से जंगल के रास्ते से चलता हुआ वह करौली इलाके तक आकर पहुंचा। जाहिर है इस बीच कई किलोमीटर की दूरी उसने तय की होगी।

इस बीच कई गांव और बस्तियां भी हंै जिनको पार करते हुए वह गुजरा। इससे वन विभाग की ओर से टाइगरों की ट्रेङ्क्षकग को लेकर भी सवाल उठ खड़े होते हैं। कैलादेवी अभयारण्य इलाके में विभाग ने काफी संख्या में वनकर्मियों को लगाया हुआ है, जिनका काम बाघों पर नजर रखना है। बावजूद इसके टाइगर के वहां से निकल कर आबादी क्षेत्र तक आ जाना आना ट्रेकिंग को भी संदेह के घेरे में लाता है। इसके मायने विभाग के कार्मिकों को यह अंदाजा ही नहीं रहता कि किस टाइगर का किस इलाके में मूवमेंट चल रहा है।
एक अन्य यह भी सवाल उठता है कि अभयारण्य सीमा में ऐसी क्या दिक्कतें रही हैं जिनके कारण उसको वो इलाका छोड़ नएक्षेत्र को ओर रुख करना पड़ा।

असल में कहा जा सकता है कि वह शिकार की तलाश में भटकता हुआ अभयारण्य इलाके से निकलकर इधर की ओर आ गया। जिस रास्ते से वह गुजरा वो क्षेत्र तथा जहां उसने हमला किया वह इलाका विकास के अभाव में जंगल जैसा नजर आता है। गहरी खाई, घने पेड़ और बारिश के मौसम में छाई हरियाली के कारण जंगल जैसे दृश्य ने उसको इस ओर आकृर्षित किया।

वन विभाग की टीम फिलहाल चाहें इस टाइगर को घेराबंदी करके बेहोश करने के बाद अभयारण्य सीमा में ले जाएं लेकिन वो कमियां तो विभाग को दूर करनी होंगी जिनके कारण टाइगर के कदम अभयारण्य से बाहर निकल रहे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned