अनलॉक से खुले बाजारों में लौटी रौनक, लोगों में दिखी बेपरवाही

Unlocking returned to the open markets, people showed irresponsibility

-लोगों की बढ़ी आवाजाही, सड़कों पर वाहनों की रेलमपेल

By: Anil dattatrey

Updated: 09 Jun 2021, 12:05 AM IST


हिण्डौनसिटी. अनलॉक के पहले दिन मंगलवार को डेढ़ माह से थमी हुई जिंदगी मानो फिर चल पड़ी। शहर के बाजरों में पहले जैसी रौनक लौटी तो दुकानदारों के चेहरे भी खिले नजर आए। सड़क से लेकर बाजारों में हर तरफ आते-जाते लोगों का नजारा देख राहत और खुशी की झलक देखी गई। लेकिन अफसोस कि हरेक चेहरे पर मास्क नहीं था, जो कि मौजूदा वक्त की सबसे अहम जरूरत है।


बड़ी संख्या में लोग महीने भर बाद बच्चों के संग शॉपिग पर निकले, तो लगा जैसे जन जीवन पुन: पटरी पर आ गया है। लेकिन भीड़ से अटे रहने वाली जगहों पर लोगों की कम आवाजाही से दृश्य बदला हुआ नजर आया। शीतला चौराहा स्थित शहर के इकलौते गुम्बर मार्ट में जहां कभी लोगों की भीड़ रहा करती थी, एसी का आनंद लेने लोग घुस जाते थे, अब वो बात नहीं रही। कोरोना संकट ने लोगों को अतिरिक्त सावधानी बरतने को विवश कर दिया है। नतीजतन अब बाजारों में पहले जैसी भीड़ नहीं है। हालांकि डैम्परोड़, कटरा बाजार और दिलसुख टाल वाली गली में सुबह के समय लोगों की भीड़ होने के कारण जाम की स्थिति बन गई। इस पर वहां मौजूद आरएसी के जवानों ने जाम आड़े-तिरछे फंसे वाहनों को हटवाकर आवागमन सुचारु कराया। इधर शाम के चार बजते ही दुकानदार अपने प्रतिष्ठानों को बंद करने की तैयारी में जुट गए। लगभग 4.30 बजे फिर से बाजार सूने हो गए।

सब्जी मंडी में मास्क ना सोशल डिस्टेंस-
सब्जी मंडी में कोई खास अंतर नहीं दिखा। वहां कल भी मास्क विहीन ग्राहकों की भीड़ भी और आज भी। शारीरिक दूरी का पालन यहां होता कभी नहीं दिखा। यही हाल अन्य दुकानों पर भी दिखाई दिया। कोरोना महामारी से बचाव को दिए जा रहे निर्देशों और देश- दुनिया के बिगड़ते हालात से परिचित होने के बावजूद ऐसी लापरवाही समझ से परे है।

आर्थिक तंगी से आई क्रय शक्ति में कमी-
कोरोना महामारी के कारण लोगों की क्रय शक्ति में आई है। अनलाक होने के बाद बाजारों में जितनी भीड़ होने की उम्मीद थी, उस तरह के दृश्य कहीं दिखाई नहीं दिए। इसकी एक वजह तो यह कि अब अधिकांश जरुरत की चीजें गांव- गांव तक सहजता से पहुंच रही। व्यवसाय का ट्रेंड बदला है। बड़ी तादाद में लोगों ने फेरी लगा जरुरी सामान बेचना प्रारंभ कर दिया है। दूसरा और सबसे अहम कारण है कि लोगों की क्रय शक्ति में ह्रास हुआ है। फिजूलखर्ची से लोग बच रहे हैं। सोच समझकर पैसे खर्च कर रहें है।

एसडीएम व डीएसपी ने किया आगाह-
एसडीएम सुरेश कुमार यादव व डीएसपी किशोरी लाल ने लोगों को आगाह किया कि अनलॉक का मतलब यह हरगिज नहीं कि हम मौजूदा संकट के प्रति बेपरवाह हो जाएं। जरुरी सावधानियों में कोई कमी नहीं आनी चाहिए। हम अपने रोजमर्रा के कार्यों को करें जरुर, लेकिन बताए गए निर्देशों का पालन करते हुए। मसलन साफ सफाई के प्रति सजगता, मास्क लगाने एवं शारीरिक दूरी का पालन को अपनी आदत में शामिल करने की आवश्यकता है।

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned