नदी को बचाने के लिए ग्रामीण आए आगे,सीवरेज के पानी से प्रदूषित हो रहा पानी

करौली. स्थानीय सीवरेज ट्रीटमेंट (Water being polluted by sewerage water) प्लांट से छोड़े जा रहे पानी से बडख़ेड़ा (राजपुर) की नदी का पानी प्रदूषित हो रहा है। ऐसे में इस नदी को बचाने के लिए राजपुर गांव के ग्रामीण आगे आए हैं। उन्होंने शुक्रवार को जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंप नदी को बचाने की गुहार लगाई।

करौली. स्थानीय सीवरेज ट्रीटमेंट (Water being polluted by sewerage water) प्लांट से छोड़े जा रहे पानी से बडख़ेड़ा (राजपुर) की नदी का पानी प्रदूषित हो रहा है। ऐसे में इस नदी को बचाने के लिए राजपुर गांव के ग्रामीण आगे आए हैं। उन्होंने शुक्रवार को जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंप नदी को बचाने की गुहार लगाई। इस पर जिला कलक्टर ने भी समस्या के समाधान का विश्वास
दिलाया। ज्ञापन में बताया कि करौली के सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट का पानी पूरी तरीके से स्वच्छ किए बिना ही प्लांट के सामने के एक नाले में छोड़ा जा रहा है। इस नाले से गंदा पानी बडख़ेडा, गूलरघाट (राजपुर) की नदी में पहुंच कर नदी को दूषित कर रहा है। इस नदी से पांचना बांध में पहुंचने लगा है। ग्रामीणों ने बताया कि अभी दो किलोमीटर तक की नदी का पानी मटमैला हो गया है, नदी के पानी पर गंदी परत छा गई है। ज्ञापन में उल्लेख किया है कि करौली शहर के नालों का गंदा पानी भी नदी में पहुंच रहा है। ज्ञापन देने वालों में गुमान सिंह, हरिसिंह, कुवंर सिंह, मोहरसिंह, हंसराज आदि शामिल थे। उल्लेखनीय है कि राजस्थान पत्रिका में 1२ फरवरी को सीवरेज के पानी से मैली हो रही नदी शीर्षक से समाचार प्रकाशित हुआ था। इसके बाद नगरपरिषद के अधिकारी हरकत में आए और उन्होंने प्लांट से पानी के नमूने जांच के लिएसंकलित किए। इसी क्रम में अब ग्रामीण भी नदी को बचाने के लिए आगे आए हैं।

vinod sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned