करौली के पिछड़ेपन के लिए कौन है जिम्मेदार

करौली के पिछड़ेपन के लिए कौन है जिम्मेदार

विजय बैंसला ने उठाए सवाल
कहा कि मूलभूत जरूरतों के भी नहीं हैं प्रबंध

करौली। पूर्वी राजस्थान के नेता विजय बैंसला ने करौली शहर सहित ग्रामीण इलाके में बीते 70 साल में विकास नहीं होने को लेकर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा है कि यह राजनीतिक आरोप नहीं बल्कि हकीकत है। इसके लिए उन्होंने जनप्रतिनिधियों को भी जिम्मेदार ठहराया है। बैंसला ने पत्रकार वार्ता में कहा कि जिला मुख्यालय पर ही लोग आजादी के 70 वर्षों के बाद बिजली पानी को तरस रहे हैं।

By: Surendra

Published: 16 Jun 2021, 08:43 PM IST

करौली के पिछड़ेपन के लिए कौन है जिम्मेदार

विजय बैंसला ने उठाए सवाल
कहा कि मूलभूत जरूरतों के भी नहीं हैं प्रबंध

करौली। पूर्वी राजस्थान के नेता विजय बैंसला ने करौली शहर सहित ग्रामीण इलाके में बीते 70 साल में विकास नहीं होने को लेकर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा है कि यह राजनीतिक आरोप नहीं बल्कि हकीकत है। इसके लिए उन्होंने जनप्रतिनिधियों को भी जिम्मेदार ठहराया है।
बैंसला ने यहां आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि जिला मुख्यालय पर ही लोग आजादी के 70 वर्षों के बाद बिजली पानी को तरस रहे हैं। वे बोले कि करौली शहर के घरों में शौचालय तक नहीं है। शर्मनाक स्थिति है कि महिलाएं खुले में शौच जाने को मजबूर हैं। फील्ड में जाने पर साफ दिखता है कि इलाके में विकास हुआ ही नहीं है। किसी भी दल के विधायक ने विकास के लिए सोचा तक नहीं है।
उन्होंने कहा कि जनता को भी ऐसी समस्याओं के लिए मुखर होकर आगे आना चाहिए।
बैंसला ने बताया कि शौचालयों की समस्या के बारे में उनकी कलक्टर से बात हुई है। उन्होंने दो दिन में चलित शौचालयों के प्रबंध करने का भरोसा दिलाया है।
उन्होंने नए चिकित्सालय के मार्ग की दशा सुधारने और सार्वजनिक रोशनी व्यवस्था के प्रबंध करने का मुद्दा उठाते हुए कहा कि इस बारे में प्रशासन को प्रबंध करने चाहिए। रात्रि में नए अस्पताल के लिए वाहन उपलब्ध नहीं होते हैं। अंधेरा छाया रहता है और सड़क की दयनीय हालत किसी से छुपी नहीं है। उन्होंने चिकित्सालय जाने को मनमाने किराए की वसूली बंद करने के लिए मिनी बस संचालन का सुझाव दिया है। बैंसला ने जानकारी दी कि चिकित्सालय मार्ग की समस्याओं के बारे में भी कलक्टर को अवगत कराया था। इस पर कलक्टर ने जल्दी समाधान का विश्वास दिलाया है। इसी क्रम में उन्होंने सुरक्षा की दृष्टि से मार्ग के बीच पुलिस चौकी का भी सुझाव दिया है।
उन्होंने अफसोस जताया कि क्या करौली विधायक को यह समस्याएं नहीं दिखती हैं। वे विधायक फंड से भी इन समस्याओं का समाधान करा सकते हैं। इस मौके पर सर्व समाज समिति के सदस्य सनी शर्मा भी मौजूद थे।

सक्रीयता पर सवाल

गौरतलब है कि विजय बैंसला, गुर्जर आरक्षण आंदोलन के मुखिया रहे कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के पुत्र हैं। उनकी पिछले कुछ समय से करौली इलाके में सक्रीयता बढऩे के लेकर अनेक चर्चाएं भी चल रही है। करौली में सक्रीयता क्यों हुई के सवाल पर उन्होंने कहा कि करौली से उनका लगाव शुरू से रहा है। बाहर रहने से आना जाना कम था। यहां की इलाके की दयनीय स्थिति के कारण सक्रीय भी हुआ तो गलत क्या है।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned