महिलाओं ने फोडी मटकियां, जलदाय कार्यालय व तहसील में किया विरोध प्रदर्शन

Women protested in Fodi Matki, water supply office and tehsil

नीर के लिए कब तक सहें पीर...

पेयजल संकट को लेकर उपभोक्ताओं में फूटा गुस्सा

By: Anil dattatrey

Published: 18 Jun 2021, 10:09 AM IST

हिण्डौनसिटी. भीषण गर्मी में पेयजल किल्लत से जूझ रही वार्ड- 52 की महिलाओं ने जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के कार्यालय व तहसील में प्रदर्शन किया। पार्षद के नेतृत्व में पहुंची महिलाओं ने पहले तो साथ खाली मटकियां फोडी, फिर अभियंताओं के खिलाफ नारे लगा रोष प्रकट किया।


सुबह करीब साढ़े 10 बजे पार्षद अश्वनी के साथ दो दर्जन से अधिक महिलाएं जलदाय कार्यालय पहुंच गई। लेकिन अभियंताओं के मौजूद नहीं होने से गेट के बाहर धरना देकर बैठ गई। काफी देर तक अभियंता नहीं पहुंचे तो वे तहसील कार्यालय पहुंच गई। जहां मटकियां फोडकर प्रदर्शन किया। इसके बाद एसडीएम अनूप सिंह को ज्ञापन सौंप कर पेयजल आपूर्ति शुरु कराने की मांग की।


पार्षद ने बताया कि शहरी पुनर्गठित पेयजल योजना के तहत वार्ड क्षेत्र की हजारी कॉलोनी, मिलक कॉलोनी, माली पाडा व बड़ी बाखर के एक भाग में अभी तक पाइप लाइन नहीं बिछ पाई है। जबकि जाटव बस्ती में जहां पाइप लाइन बिछा दी गई है, वहां भी नलों से जलापूर्ति शुरु नहीं की गई है।

ऐसे में भीषण गर्मी के दौर में उन्हें पेयजल के लिए भटकना पड़ रहा है। कई बार अभियंताओं से समस्या समाधान की मांग की गई, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

पार्षद ने तीन दिन में समस्या समाधान नहीं होने पर जलदाय कार्यालय में भूख हडताल पर बैठने की बात कही है। इधर एसडीएम ने सहायक अभियंता भगवान सहाय मीणा को उपखंड कार्यालय बुलाकर शीघ्र समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए। इस दौरान विरमा देवी, सुनीता, ओमवती, गंगा, बबीता, संता, धनमंती व कमलेश समेत काफी संख्या में महिलाएं मौजूद थी।

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned