​​​​​समर्थन मूल्य पर प्रधानमंत्री को धन्यवाद के लिए हरियाणा में छठी रैली

​​​​​समर्थन मूल्य पर प्रधानमंत्री को धन्यवाद के लिए हरियाणा में छठी रैली

Prateek Saini | Publish: Aug, 12 2018 07:22:51 PM (IST) Gohana, Haryana, India

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान खुशहाल तो हरियाणा खुशहाल, हरियाणा खुशहाल तो देश खुशहाल और देश खुशहाल तो दुनियां में एक और खुशहाली का दौर शुरु होगा...

(चंडीगढ़): खरीफ फसलों के लिए घोषित समर्थन मूल्य पर प्रधानमंत्री का धन्यवाद व्यक्त करने के लिए हरियाणा में फसलवार पांच रैलियों का आयोजन करने के बाद रविवार को गोहाना में छठी धन्यवाद रैली आयोजित की गई। रैली में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपनी सरकार के अब तक के कार्यकाल में आम आदमी के हित किए गए कार्यों की जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत 4 जुलाई को खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य लाभ के फार्मूले के साथ घोषित कर वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में कदम आगे बढ़ाया है।


हरियाणा के किसानों की ओर से महेंद्रगढ़, शाहबाद, घरौंडा, फिरोजपुर झिरका और बरवाला में प्रधानमंत्री का धन्यवाद व्यक्त करने के लिए आयोजित की गई पांच रैलियों के बाद आज गोहाना में छठी किसान धन्यवाद रैली की शुरुआत मुख्यमंत्री ने ‘किसानों को देंगे पूरे दाम, देश के हित में करेंगे काम’ के नारे के साथ की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने किसानों के साथ-साथ खेतिहर मजदूर, खेती के औजार बनाने वाले परिवार व छोटे-बड़े उद्यमियों का उत्पादन बढ़ाने व युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने का रास्ता प्रशस्त कर एक पंथ से कई काज साधे हैं।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान खुशहाल तो हरियाणा खुशहाल, हरियाणा खुशहाल तो देश खुशहाल और देश खुशहाल तो दुनियां में एक और खुशहाली का दौर शुरु होगा। उन्होंने कहा कि गरीब से गरीब व्यक्ति तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए व्यवस्था परिवर्तन के लिए सरकार ने पिछले करीब चार वर्षों में दिन-रात मेहनत कर कानून व नीतियां बनाई है और नौकरियों में पारदर्शिता आई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गु्रप-डी की 30 हजार नौकरियां शीघ्र ही विज्ञापित की जाएगी। अब तक सरकार 28 हजार से अधिक नौकरियां पारदर्शिता के साथ युवाओं को दे चुकी है। उन्होंने कहा कि हमने स्थानांतरण व नौकरियों में दलाल प्रथा को खत्म कर आईटी के माध्यम से व्यवस्था परिवर्तन किया है।


किसानों को भी आईटी के माध्यम से फसल का पूरा उत्पादन मिले व उन्हें सही प्रशिक्षण मिले, इसके लिए सोयल हैल्थ कार्ड के साथ-साथ किस मिट्टी में कौन सी फसल बोनी है इसकी जानकारी भी देकर किसान को जोखिम मुक्त किया जाएगा। फल-सब्जियों के लिए भावांतर भरपाई योजना लागू की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने दक्षिण हरियाणा के महेंद्रगढ़ नारनौल व लोहारू क्षेत्र में ऐसी-ऐसी टेलों पर नहरी पानी पहुंचाया है जहां 30 वर्षों में पहली बार पानी पहुंचा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ईज ऑफ डूईंग बिजनेस के मामले में हरियाणा 2014 में 14वें स्थान पर था और आज देश में तीसरे स्थान पर है। उन्होंने कहा कि हरियाणा का निर्यात उत्तरप्रदेश से भी आगे है, अगर जनसंख्या की दृष्टि से निर्यात को देखें तो गुजरात व महाराष्ट्र के बाद हरियाणा तीसरे स्थान पर है।

 


मुख्यमंत्री ने कहा कि गोहाना विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए फंड की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी। आज भी करीब 53 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया है। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर गोहाना क्षेत्र के लिए रखी गई 56 करोड़ की मांगों को भी मौके पर स्वीकृति प्रदान की। उन्होंने गोहाना शहर के लिए 5 करोड़ रुपये तथा हरियाणा ग्रामीण विकास निधि से विकास कार्यों के लिए ग्रामीण क्षेत्र के लिए 10 करोड़ रुपये की राशि देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि बरोदा विधानसभा में शीघ्र ही एक रैली कर वहां के विकास कार्यों के लिए भी ऐसी घोषणा की जाएगी।

Ad Block is Banned