कबूतरबाजी का शिकार होकर विदेश गए हरियाणवी!

गृहमंत्री ने दिए जांच के आदेश, एडीजीपी अग्रवाल करेंगे जांच

By: Chandra Prakash sain

Updated: 23 May 2020, 08:00 PM IST

चंडीगढ़. अमेरिका द्वारा डिपोर्ट किए गए हरियाणा वासी कबूतरबाजी व फर्जी ट्रैवल एजेंटों का शिकार होकर विदेश पहुंचने की आशंका है। हरियाणा के गृहमंत्री ने इस पूरे मामले की जांच के आदेश जारी कर दिए हैं। पुलिस विभाग के एंटी हयूमन सैल के इंचार्ज व डीजीपी (क्राइम) पीके अग्रवाल इस मामले की जांच करेंगे।
अमेरिका ने हालही में हरियाणा के 76 लोगों को डिपोर्ट किया है। उक्त सभी व्यक्ति मैक्सिको के रास्ते अमेरिका गए थे। जिसके चलते इनके विरूद्ध यूएसए में केस भी चल रहे थे। जिस कारण अमेरिका सरकार ने नीतिगत फैसला लेते हुए हरियाणा के लोगों को डिपोर्ट किया गया है। सरकार को आशंका है कि उक्त सभी लोग फर्जी ट्रैवल एजेंटों के चक्कर में फंसकर कबूतरबाजी से विदेश गए थे। इन नागरिकों के हरियाणा लौटने के बाद यह भी संकेत मिल रहे हैं कि सरकार के दावों के उलट हरियाणा में फर्जी ट्रैवल एजेंट सक्रिय हैं।
हरियाणा के गृहमंत्री मंत्री अनिल विज के आदेशों पर गृह विभाग ने अमेरिका से डिपोर्ट किए यात्रियों की जांच का जिम्मा पुलिस विभाग के एंटी हयूमन सैल के इंचार्ज व डीजीपी (क्राइम) पीके अग्रवाल को सौंपा है। अग्रवाल यह पता करेंगे कि ये यात्री अमेरिका किस माध्यम से गए थे। मतलब कानूनी तरीके से इनकी एंट्री अमेरिका में हुई या फिर गैर-कानूनी तरीके से। अगर बिना मंजूरी व दस्तावेजों के भी अमेरिका में गए तो इसके लिए उन्होंने मैक्सिको का रास्ता चुना या फिर अन्य किसी चैनल से गए। अग्रवाल यह भी पता लगाएंगे कि ये सभी कबूतरबाजी का शिकार तो नहीं हुए हैं।

https://www.patrika.com/haryana-news/

Chandra Prakash sain Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned