अब शुरू होगा फिजिकल वैरीफिकेशन

सभी डीईटीसी ने दिया एसईटी को दिया रिकार्ड
पुलिस दस्तावेज देने में कर रही है आनाकानी

By: Chandra Prakash sain

Published: 18 May 2020, 10:22 PM IST

चंडीगढ़. हरियाणा के सभी जिलों के डीईटीसी ने शराब घोटाले की जांच कर रही एसईटी को रिकार्ड सौंप दिया है। एसईटी ने सभी जिलों की पुलिस से भी रिकार्ड मांग लिया है लेकिन पुलिस द्वारा रिकार्ड देने को लेकर आनाकानी की जा रही है।
हरियाणा में लॉकडाउन के दौरान हुआ शराब घोटाला अब तक सात जिलों तक फैल चुका है। हरियाणा सरकार ने इस घोटाले की जांच के लिए आईएएस टीसी गुप्ता की अध्यक्षता में एसईटी का गठन किया है। जिसमें वरिष्ठ आईपीएस सुभाष यादव तथा आबकारी विभाग के अतिरिक्त आयुक्त विजय सिंह को शामिल किया गया है।
एसईटी द्वारा इस घोटाले की जांच शुरू कर दी गई है। एसईटी द्वारा एक अप्रैल 2019 से 31 मार्च 2020 तक के शराब रिकार्ड की जांच की जाएगी। जिसके चलते एसईटी ने सभी जिलों के जिला आबकारी एवं कराधान आयुक्त से एक साल का रिकार्ड मांग लिया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सभी जिलों से आबकारी विभाग ने अपना रिकार्ड एसईटी को भेज दिया है। एसईटी द्वारा यही रिकार्ड पुलिस से भी मांगा गया है।
एसईटी ने पुलिस से इस अवधि के दौरान बरामद की गई शराब, मालखाने में रखी गई तथा नष्ट की गई शराब का ब्यौरा मांगा है। बताया जाता है कि अभी तक एक-दो जिलों को छोडक़र अन्य जिलों की पुलिस द्वारा शराब का रिकार्ड एसईटी को नहीं दिया गया है। यह रिकार्ड मिलने के बाद एसईटी द्वारा फिजिकल वैरीफिकेशन शुरू की जाएगी। जिसके आधार पर 31 मई तक जांच रिपोर्ट दी जाएगी।

https://www.patrika.com/haryana-news/

Chandra Prakash sain Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned