भाजपा नेता के नाम भूमिहीन का पट्टा, करोड़ों की जमीन पर प्रशासन ने कराया कब्जा, देखें वीडियो

ग्राम ढोलना के मूल निवासी लेकिन गांव हरसिंहपुर में 29 साल पूर्व कराया था पांच बीघा भूमि का पट्टा

By:

Published: 18 Dec 2018, 06:33 PM IST

कासगंज। उत्तर प्रदेश के जनपद कासगंज में सत्ताधारी नेताओं के आगे जिला प्रशासन बेबस और नतमस्तक हो गया है। जीता जागता परिणाम भारतीय जनता पार्टी के नेता तथा पूर्व विधायक गोवर्धन सिंह के पुत्र का देखने को मिला। ग्रामसभा की जमीन पर 29 साल से कब्जा किए गए बरखुरदारपुर के ग्रामीणों को सत्ता के दबाव में खदेड़ कर जिला प्रशासन ने कब्जा करा दिया। जब इस मामले में सदर एसडीएम से बात की गई, तो उन्होंने इस खाली कराकर कब्जा दिलाये जाने का आदेश जिलाधिकारी आरपी सिंह का बताया। ग्रामसभा की जमीन का पट्टा भूमिहीन को दिया जाता है। सवाल उठाया गया है कि क्या पूर्व विधायक का पुत्र भूमिहीन और गरीब है? वैसे आज इस जमीन की कीमत करोड़ों में है।

ग्राम प्रधान ने कहा- कब्जा नाजायज

भाजपा नेता ने 29 वर्ष पुराना पट्टा ढोलना थाना क्षेत्र के गांव हरसिंहपुर ग्राम पंचायत में करा लिया था। इस जमीन पर बरखुरदारपुर के ग्रामीण अपना कब्जा किए हुए थे। आज प्रशासन ने इस जमीन को मुक्त कराने के लिए पहुंच गया। कब्जा करने वाला नेता पूर्व विधायक गोवर्धन सिंह का बेटा और पूर्व जिला संयोजक और विधानसभा सदर प्रत्याशी रहे बीजेपी नेता महेन्द्र सिंह राणा है। जब हमने जीएस की जमीन के जिम्मेदार हरसिंह पुर के ग्राम प्रधान पन्नालाल से बात की तो उन्होंने बताया कि महेन्द्र राणा सत्ता की दम पर ग्रामसभा की जमीन पर नाजायज कब्जा कर रहे हैं, जबकि वे ढोलना के मूल निवासी हैं।

 

ये बोले कब्जाधारी बीजेपी नेता

बीजेपी नेता महेन्द्र सिंह राणा ने कैमरे पर कुछ नहीं कहा। दूरभाष पर बात की तो उन्होंने बताया कि 29वर्ष पूर्व ग्रामसभा की भूमि का पट्टा कराया था, जब उनके पिता विधायक नहीं थे। किस प्रावधान के तहत हुआ इस बारे में, उन्हें कोई पुख्ता जानकारी नही है। ये सब जिलाप्रशासन की जांच का विषय है। खाली पड़ी ग्रामसभा की जमीन का उपयोग बरखुरदारपुर के लोग कर रहे थे। बीते दिन जिलाधिकारी के आदेश पर सदर एसडीएम सुनील कुमार सिंह, सदर सीओ गवेन्द्र पाल गौतम, तहसीलदार ब्रह्मानंद कठेरिया भारी संख्या में पुलिस, पीएसी के के साथ कब्जा मुक्त कराने पहुंचे। उन्होंने अपनी मौजूदगी में जमीन को मुक्त कराकर महेन्द्र सिंह राणा को कब्जा सौंप दिया। चारदीवार भी करवा दी।

क्या कहा एसडीएम ने

उप जिलाधिकारी (एसडीएम) सदर सुनील कुमार ने अपना वचाव करते हुए कहा कि उन्हें तो जिलाधिकारी आरपी सिंह ने जमीन मुक्त कराने का आदेश दिया था। जिलाधिकारी के आदेश का पालन करना था।

BJP
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned