राशन की कालाबाजारी, चावल से भरा ट्रक पकड़ा, एक गिरफ्तार

Dhirendra yadav | Updated: 17 Aug 2019, 06:46:00 PM (IST) Kasganj, Kasganj, Uttar Pradesh, India

गिरफ्त में आए ट्रक में डेढ़ सौ कुंतल चावल भरा हुआ था।

कासगंज। जिले के पटियाली उपजिलाधिकारी (एसडीएम) को गंजडुंडवारा पुलिस की मदद से एक बड़ी सफलता हाथ लगी। एक ट्रक में भरकर ले जाए जा रहे सरकारी चावल को पकड़ लिया। गिरफ्त में आए ट्रक में डेढ़ सौ कुंतल चावल भरा हुआ था। साथ ही एक राशन माफिया को गिरफ्तार किया गया है। ट्रक में भरे चावल की कीमत तीन लाख के तकरीबन बताई जा रही है।

ये भी पढ़ें - Uttarakhand में UP Police के सिपाही की हत्या, दो इंस्पेक्टर समेत तीन लाइन हाजिर, देखें मौत का Video

चेहरा छिपा लिया
उपजिलाधिकारी शिवकुमार पटियाली कासगंज को सूचना मिली कि एक ट्रक जिसमें सरकारी चावल की बोरियां लदी हैं, कालाबाजारी के लिए ले जाया जा रहा है। एसडीएम तत्काल क्षेत्राधिकारी गवेन्द्र पाल गौतम को साथ लेकर बताए गए स्थान पर पहुंचे। मौके से एसडीएम ने ट्रक को कब्जे में लिया। एक व्यक्ति को भी हिरासत में लिया गया है। उसे गंजडुंडवारा थाने में बिठा दिया है। हिरासत में आये व्यक्ति से बात की गई तो उसने अपना चेहरा छिपा लिया। कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हुआ, जिससे साफ तौर पर यह चावल कालाबाजारी का था।

ये भी पढ़ें - 10 साल में भी नहीं बनी सड़क, लोगों का फूटा गुस्सा, देखें वीडियो

पूर्ति निरीक्षक ने की जांच
एसडीएम शिवकुमार ने बताया कि ट्रक की तौल कराई गई, जिसमें चावल का वजन 150 क्विंटल है। फिलहाल मामला पूर्ति निरीक्षक विनोद भारती के सुपुर्द कर दिया गया है। पूर्ति निरीक्षक ने ट्रक में लदे चावलों की जांच की।

ये भी पढ़ें - स्वास्थ्य विभाग के जागरुकता अभियान का दिखा असर, मलेरिया के मरीजों में आई कमी

कालाबाजारी जोरों पर
आपको बता दें कि जनपद कासगंज में सरकारी गल्ले की कालाबाजारी का काम जोरों से फल फूल रहा है। निश्चित तौर पर कहीं न कहीं इन काले कारोबारियों के साथ आला अधिकारियों और नेताओ की मिलीभगत है। ऐसे में प्रशासन को जरूरत है कि वो ईमानदारी से कार्य करे, जिससे कालाबाजारी पर रोक लग सके और गरीबों को उनका हक मिल सके।

ये भी पढ़ें - Article 370 भाजपा विधायक पर सपा नेता ने साधा निशाना, कह दी ये बड़ी बात, देखें वीडियो

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned