जेल में बंदी का मिला शव, हत्या का आरोप, जेलर पर भी लगाए गंभीर आरोप

परिजनों ने साजिश के तहत जेलर पर हत्या करने का आरोप लगाया है। वहीं पुलिस के मुताबिक बंदी ने आत्महत्या की है।

कासगंज। जिला कारागार में विचाराधीन बंदी की संदिग्ध परिस्थितियों में लाश मिलने से सनसनी फैल गई। जेल प्रशासन के साथ साथ जिला प्रशासन के भी हाथ पैर फूल गए और जिले के आला अधिकारी जिला कारागार की ओर रवाना हो गए। परिजनों ने साजिश के तहत जेलर पर हत्या करने का आरोप लगाया है।

अपहरण और हत्या के केस में था बंद

आपको बतादें कि हत्या के आरोप में विचाराधीन चल रहे कैदी को कासगंज कोतवाली पुलिस द्वारा दो माह पूर्व 7 जनवरी को किशोर की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था, जिसकी जिला कारागार में लाश मिली। मृतक कैदी विनोद पर आरोप था कि उसने जमीन के लालच में जनपद के सिढ़पुरा थाना क्षेत्र के रहने वाले किशोर का पहले तो अपहरण किया और फिर बाद में उसे जान से मार दिया और अपने साथी के साथ मिलकर उसका शव सदर कोतवाली के हजारा नहर के समीप फेंक दिया। जिसकी पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

हत्या का आरोप

जेल में बंद बंद का शव मिलने कासगंज जनपद की जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर काफी गंभीर सवाल खड़े होते हैं। मृतक बंदी विनोद की बहन की मानें तो उसके भाई को झूठे आरोप में फंसाया गया था। बहन ने आरोप लगाया है कि वादी के परिजनों ने जेलर से मिलकर विनोद की हत्या कर दी और आत्महत्या का रूप देने की कोशिश की जा रही है।

क्या कहना है पुलिस का

जिला कारागार में कैदी के आत्महत्या करने के बाद पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार शुक्ल ने बताया की सात जनवरी को इसे गिरफ्तार कर पुलिस द्वारा जेल भेजा गया था और आज इसने गेट के सहारे फंदा लगाकर आत्महत्या करली। हम लोगों ने मौका मुआयना किया है और अब मृतक के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned